कांग्रेस ने किया सरकार के खिलाफ हल्लाबोल, विधानसभा का घेराव किया

354
शिमला,8 सितंबर 2020.कांग्रेस ने आज यहां चौड़ा मैदान में प्रदेश सरकार के खिलाफ जबरदस्त हल्ला बोलते हुए सरकार में व्याप्त भ्रष्टाचार,बढ़ती बेरोजगारी व महंगाई के विरुद्ध जबरदस्त प्रदर्शन करते हुए भाजपा सरकार की जनविरोधी नीतियों की डटकर आलोचना की।उन्होंने कहा कि आज भाजपा ने अपने जनविरोधी निर्णयों से देश की अर्थव्यवस्था को चौपट कर देश को बर्बादी की राह पर ला कर खड़ा कर दिया है।उन्होंने कहा कि केंद्र ने आज देश का खजाना तक खाली कर दिया,अब देश की सरकारी सम्पतियों को बेचा जा रहा है।
कांग्रेस अध्यक्ष कुलदीप सिंह राठौर के नेतृत्व में आयोजित प्रदेश सरकार के खिलाफ इस धरना प्रदर्शन को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि अब कांग्रेस चुप बैठने वाली नही।उन्होंने पार्टीजनों का आह्वान किया कि आज से अब वह भाजपा के खिलाफ मैदान में डट जाए।उन्होंने कहा कि आज प्रदेश में भ्रष्टाचार चरम सीमा में बढ़ता जा रहा है। सरकार के मंत्री बेनामी जमीनें सम्पति खरीद रहें है।कोविड के चलते हुए स्वास्थ्य उपकरणों की खरीद में घोटाला हुआ।सरकार अपनी छवि को साफ सुथरा दिखाने की एवज में भ्रष्टाचार में संलिप्त अपने नेताओं को क्लीन चिट देकर इसकी जांच में लीपा पोथी में लगी है।उन्होंने कहा कि भाजपा के नेताओं ने एक पत्र लिखकर स्वास्थ्य विभाग में एक बड़े घोटाले की बात कही थी,सरकार ने उसकी भी कोई जांच नही की।उन्होंने कहा कि प्रदेश में शिक्षा की फर्जी डिग्रियां बेची जा रही है।सरकार की कछुआ चाल जांच से साफ है कि वह इसमें अपने लोगों को बचाने का पूरा प्रयास कर रही है।
राठौर ने कहा कि प्रदेश सरकार की सारी शासकीय व्यवस्था फेल हो चुकी है।प्रदेश में सरकारी नोकरियों की बोली लग रही है।प्रदेश के बाहरी लोगों को नियुक्तियां दी जा रही है।सरकारी कर्मचारियों को राजनीति कर्ण किया जा रहा है।उन्होंने कहा की राजनैतिक आधार पर बड़े पैमाने पर कर्मचारियों के तबादले किये जा रहें है।उन्होंने कहा कि आज कुछ अधिकारी सरकार के पिठू बन गए है जो नियमोँ को ताक पर रख कर भाजपा व संघ के इशारों पर उल्टे सुलटे कामों को अंजाम दे रहें है।उन्होंने कहा कि कांग्रेस इस सब पर अपनी पूरी नज़र रखें हुए है,और सत्ता परिवर्तन के बाद ऐसे अधिकारियों से पूरा हिसाब किताब चुकता किया जाएगा।उन्होंने कहा कि कांग्रेस प्रदेश को  किसी भी कीमत पर बीकने नही देगी।उन्होंने कहा कि केंद्र की सरकार हो या प्रदेश की भाजपा सरकार लोग इसकी जनविरोधी नीतियों से तंग आ चुके है।उन्होंने कहा कि कोविड के इस दौर में भाजपा सरकार लोगों को लूट रही है।उन्होंने कहा कि देश और प्रदेश के लोगों को बड़ी बड़ी राहते देने के सरकार के दाबे पूरी तरह खोखले और झूठे है।
प्रतिपक्ष के नेता मुकेश अग्निहोत्री ने इस दौरान प्रदर्शन को सम्बोधित करते हुए कहा कि प्रदेश के इतिहास में पहलीं बार विधानसभा के अंदर कांग्रेस पार्टी द्वारा लाये गए नियम 67के तहत अन्य सभी काम रोक कर प्रदेश में कोविड 19 के चलते सरकार के कुप्रबंधन पर चर्चा हो रही है।उन्होंने कहा कि विधानसभा के अंदर लोगों के हितों की लड़ाई कांग्रेस के विधायक लड़ रहे है,जबकि बाहर सभी कार्यकर्ता सरकार के खिलाफ एकजुट होकर खड़े है।उन्होंने प्रदेश में बढ़ते भ्रष्टाचार,महंगाई व बेरोजगारी पर सरकार से इस्तीफे की मांग करते हुए कहा कि कोविड माहमारी से अब तक प्रदेश में 55 लोग अपनी जान गवां चुके है।इस सब के लिए प्रदेश सरकार दोषी है।उन्होंने आज के इस सफल आयोजन के लिए प्रदेशाध्यक्ष कुलदीप सिंह राठौर व पार्टी के सभी पदाधिकारियों की सराहना करते हुए कहा कि अब जब भी चुनाव होंगे,प्रदेश में कांग्रेस पार्टी की ही सरकार बनेगी।
कांग्रेस अध्यक्ष ने इस विरोध प्रदर्शन में आये पार्टी कार्यकर्ताओं का आभार व्यक्त करते हुए कहा कि कोविड 19 के चलते इस प्रदर्शन में कम लोगों को ही आने को कहा था।उन्होंने कहा कि आज की भीड़ से सावित हो गया कि अब कांग्रेस एकजुट होकर मजबूती से आगे आ रही है।उन्होंने यहां आए जिला अध्यक्ष, ब्लॉक अध्यक्ष या पार्टी पदाधिकारियों व कार्यकर्ताओं का इस सफल आयोजन के लिए आभार व्यक्त किया।
इस विरोध प्रदर्शन को महिला कांग्रेस अध्यक्ष जैनब चंदेल,कांग्रेस उपाध्यक्ष गंगूराम मुसाफिर,महासचिव केवल सिंह पठानिया के अतिरिक्त कई अन्य नेताओं ने भी संबोधित किया।इस दौरान मंडी जिला अध्यक्ष प्रकाश चौधरी,सिरमौर जिला अध्यक्ष अजय बाहदुर सिंह,सोलन जिला अध्यक्ष शिव कुमार,शिमला शहरी अध्यक्ष जितेंद्र चौधरी,मुख्य प्रवक्ता पूर्व विधायक कुलदीप सिंह पठानियां,चेतराम ठाकुर,हरिकृष्ण हिमराल,मस्त राम,करनेश जंग,यशपाल तनाईक, वेद प्रकाश ठाकुर,पवन चौहान, के अतिरिक्त पार्टी के अग्रणी संग़ठन सेवादल,महिला कांग्रेस, यूबा कांग्रेस, एनएसयूआई व इंटक सहित विभिन्न विभागों के प्रति पदाधिकारी व कार्यकर्ता मौजूद थे।