किसानो को अगर बेदखल किया जाता है तो इतने कम रेट पर हिमाचल में कही भी उपजाऊ जमीन नहीं मिलेगी: हरदेव सैनी, सचिब ढाबन

165

जन संपर्क अभियान के 7बे दिन आज दिनाक 26 फरबरी, 2021 को बल्ह बचाओ किसान संघर्ष समिति, ढाबन , गाँव की बैठक श्री मस्त राम सैनी कि अध्यक्षता में हुई, उन्होंने ने कहा कि प्रस्तावित हवाई अड्डा क्षेत्र में ज्यादातर हमारी आबादी जो की नकदी फसलें जिसमे टमाटर, गोभी, मूली, पालक व अन्य फसलें ऊगा कर अपनी आजीविका कमा रहे है, उन्हें यहाँ से विस्थापित कर कहाँ पुनर्स्थापित होंगे , उसकी सरकार के पास कोई भी वैकल्पिक योजना नहीं है और इसके अलावा कृषि के आधुनिक उपकरण/ मशीनरी , ट्रेक्टर, आरा मशीनरी, जेसीबी मशीने, ट्रक , टेम्पो, मिकसर, के व्यापार में लोग लगे है जो बेरोजगार हो जायेंगे और उन्हें बेरोजगारी का दंश झेलना पड़ेगा
श्री हरदेव सैनी ने कहा कि हिमाचल सरकार द्वारा भूमि अधिग्रहण कानून 2013 को पूरी तरह लागु नहीं कर रही है , पुनर्स्थापना और पुनर्निवास, रोजगार ब बाज़ार भाव पर जमीन का मूल्य, जमीन के बदले जमीन, नौकरी देने की कोई नीति नहीं है और सरकार ने भूमि का मुआबजा अभी तक (फोर लेन) सर्कल रेट के अनुसार फेक्टर 1 लागु करके दिया गया है I हमारे क्षेत्र में जमीन के सरकल रेट इतने कम है कि जमीन कोड़ियो के भाव, जाएगी।जिला प्रशासन द्वारा घोषित ढाबन गाँव का सरकल रेट 2.05 (सड़क से100 मीटर बाहर) और 100 मीटर तक 11.20 लाख प्रति बीघा है जबकि किसान 3-4 लाख प्रति बीघा नकदी फसलों से प्रति वर्ष कमा रहा है और हमारी जमीन का बाज़ार भाव इससे कई गुना जयादा है और किसानो को अगर बेदखल किया जाता है तो इस रेट में हिमाचल में कही भी उपजाऊ जमीन नहीं मिलेगी।किसान सेहमें हुए है और उजड़ने का डर सत्ता रहा है इसलिए हम मांग करते है कि प्रस्तावित हवाई अड्डे को गैर उपजाऊ जमीन पर बनाया जाए और लोगो से आह्वान करते है कि 1 मार्च कि रैली में बड्-चढ़ कर भाग ले और अपनी एकता का परिचय देकर रैली में भाग लें।
उपरोक्त बैठक में मस्तराम सैनी के इलाबा , हरदेव सैनी,सचिव रुआलू राम, जोगिन्दर वालिया, क्रिशन सैनी, रोशन लाल, जयराम सैनी , रणजीत सिंह, विदयासागर सैनी, हरिसिंह, राकेश, मनोज ब अन्य कमेटी सदस्य शामिल हुये I