खेरी कॉउ सेन्क्च्यूरी में घटिया निर्माण की विजिलेंस से तुरंत हो जांच : राणा

117

सुजानपुर के खेरी कॉउ सेन्क्च्यूरी का मामला पहुंचा मुख्यमंत्री के दरबार

सुजानपुर 22 सितंबर
सुजानपुर के सीमांत क्षेत्र पर सरकार द्वारा करोड़ों के खर्च से बनाई गई कॉउ सेन्क्च्यूरी के निर्माण गुणवत्ता का मामला अब मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर के दरबार जा पहुंचा है। सुजानपुर के विधायक ने स्थानीय नागरिकों के भारी दबाव के चलते इस मामले की शिकायत मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर को की है। राणा ने जयराम ठाकुर को लिखी पात्ती में कहा गया है कि करोड़ों की लागत से बनी सुजानपुर के खेरी में बनी नवनिर्मित कॉउ सेन्क्च्यूरी की निर्माण गुणवत्ता पर क्षेत्र की जनता लगातार सवाल उठा रही है। इस मामले में स्थानीय का एक प्रतिनिधित्व मंडल भी राणा से मिला है। नागरिकों में रोष है कि यह कॉउ सेन्क्च्यूरी बनने से पहले ही गिरने की कगार पर आ चुकी है। कॉउ सेन्क्च्यूरी पर खर्चे गए करोड़ों के धन का लाभ उस मकसद के लिए नहीं हुआ है जिस मकसद के लिए सरकार ने यहां कॉउ सेन्क्च्यूरी के लिए करोड़ों का बजट खर्चा है। अफसोस जनक स्थिति यह है कि उदघाटन से पहले इस कॉउ सेन्क्च्यूरी की दीवारें गिर गई हैं जो कि यह बता रही हैं कि इस कॉउ सेन्क्च्यूरी के निर्माण में निर्धारित मानकों के तहत सामग्री की गुणवत्ता का प्रयोग नहीं किया गया है। राणा ने कहा कि खेरी क्षेत्र की जनता के साथ सुजानपुर की जनता के आक्रोश को देखते हुए मैं सरकार से आग्रह कर रहा हूं कि इस कॉउ सेन्क्च्यूरी की सामग्री गुणवत्ता की जांच की जाए। राणा ने कहा है कि इस मामले की जांच विजिलेंस से भी करवाई जाए ताकि इस घोटाले में शामिल दोषियों के खिलाफ सरकार कारवाई कर सके। उन्होंने कहा कि जीरो टॉलरेंस भ्रष्टाचार का राग गाते-गाते इस कॉउ सेन्क्च्यूरी के निर्माण में भारी घोटाले का अंदेशा काफी पहले से था लेकिन अब इसकी दीवारें गिरने के साथ यकीन हो गया है कि यहां पर बड़े घोटाले को अंजाम दिया गया है।