चंबा जिला में नशा मुक्त भारत अभियान शुरू, लोगों के पुनर्वास के लिए भी उठाए जाएंगे कदम

370

 

नशे को लेकर जागरूकता और जन आंदोलन पर रहेगा फोकस
नशे की गिरफ्त में आए लोगों के पुनर्वास के लिए भी उठाए जाएंगे कदम
देशभर के 272 जिलों में चंबा जिला भी शामिल
हिमाचल के 4 जिलों में चलेगा अभियान
चंबा, 16 अगस्त – भारत सरकार द्वारा शुरू नशा मुक्त भारत अभियान का आगाज चंबा जिला में भी कर दिया गया है। उपायुक्त विवेक भाटिया जो नशा मुक्त भारत अभियान की जिला स्तरीय समिति के अध्यक्ष भी हैं ने बताया कि इस अभियान के लिए भारत सरकार के सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्रालय ने देश भर में 272 जिलों को चुना है। अभियान के लिए प्रदेश के चार जिले शामिल किए गए हैं जिनमें चंबा जिला भी शामिल है।  उन्होंने कहा कि अभियान का उद्देश्य न केवल जन-साधारण को नशे के दुष्प्रभावों के बारे में जागृत करना है बल्कि नशे के खिलाफ जन आंदोलन खड़ा करना है। इसकी रोकथाम के लिए व्यापक कदम उठाए जाएंगे। अभियान में गैर सरकारी संस्थाओं, पंचायती राज संस्थाओं तथा युवा वर्ग की भागीदारी भी सुनिश्चित की जाएगी। उपायुक्त ने यह भी कहा कि अभियान के लिए जिला एवं उपमंडल के स्तर पर समितियों का गठन कर लिया गया है और अभियान 15 अगस्त से 31 मार्च 2021 तक चलेगा।
अभियान के दौरान विभिन्न विभागों द्वारा विभिन्न गतिविधियों व फोक  मीडिया द्वारा लोगों को नशे की रोकथाम के लिए जागरूक किया जाएगा। इसके अलावा शिक्षा संस्थानों के आस-पास नशीले पदार्थों को बैन करने से लेकर नशा ग्रस्त युवाओं की पहचान कर उनका पुर्नवास करने जैसे महत्वपूर्ण कार्य इस अभियान के मुख्य लक्ष्य रहेंगे।
उपायुक्त ने कहा कि नशा मुक्त भारत अभियान को एक जन आंदोलन के रूप में गति देने की जरुरत रहेगी ताकि नशा मुक्त भारत अभियान के अपेक्षित परिणाम मिल सकें और नशा मुक्त भारत के तय लक्ष्य हासिल हों।
उपायुक्त ने आमजन का आह्वान करते हुए कहा कि वे 31 मार्च 2021 तक चलने वाले इस अभियान के साथ जुड़कर समाज से नशे के दुष्चक्र को समाप्त करने में अपनी सक्रिय और महत्वपूर्ण सहभागिता निभाने के लिए आगे आएं।
———–