जिला सिरमौर में  देश का पहला कोविड-19 आयुष चिकित्सालय हुआ आरम्भ – डा0 परूथी

427
नाहन 18 अगस्त -जिला सिरमौर के नाहन में दिल्ली गेट के समीप देश का पहला कोविड-19 आयुष चिकित्सालय आरम्भ किया गया है जिसका शुभारंभ 14 अगस्त, 2020 को माननीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण व आयुर्वेदिक मंत्री राजीव सैजल द्वारा किया गया जिसमें आज ओपीडी का संचालन आरम्भ कर दिया गया है। यह जानकारी उपायुक्त सिरमौर डा. आर.के. परूथी ने दी।
     उन्होने बताया कि जिला सिरमौर में कोरोना संक्रमितो के रिकवरी रेट 70 प्रतिशत से अधिक है और अधिकतर संक्रमित लोग 10 दिनों के भीतर ठीक हो रहे है कोविड-19 आयुष चिकित्सालय में संक्रमित व एसिम्टोमेटिक लोगों का ईलाज आयुष पद्दतियों, आयुर्वेद, योग-प्राणायाम, होम्योपेथी, प्राकृतिक चिकित्सा व आयुष काढा के इस्तेमाल से संक्रमितों में रोग प्रतिरोधक क्षमता  को बढाकर किया जाएगा।
    उन्होने बताया कि इस आयुष चिकित्सालय के धरातल व प्रथम मंजिल में आयुष कोविड-19 के ओपीडी व वार्ड का प्रावधान है जिसमें उपरी श्वास तंत्र की ओपीडी को शुरू कर दिया गया है जिसमें एसिम्टोमेटिक मरीजों का ईलाज किया जा रहा है और प्रथम तल पर कोविड-19 मरीजों के लिए 16 बिस्तरो का वार्ड बनाया गया है। जहां कोविड-19 मरीजों का ईलाज आयुष पद्दति से उपचार कर उनकी रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढाया जाएगा। जबकि दूसरी, तीसरी व चौथी मंजिल में आयुर्वेदिक अस्पताल आरम्भ किया जाएगा  जिसमें पंचकर्मा, क्षारसूत्र कर्मा, योग यूनिट, अग्नि कर्म, रक्त मोक्षण पद्दतियों से मरीजों का ईलाज किया जाएगा। इसके अतिरिक्त इस आयुष चिकित्सालय की छत पर प्राकृतिक पद्दति हाईडो मढ़ थैरेपी और कोरोमा थैरेपी के द्वारा मरीजों का ईलाज किया जाएगा।
         जिला आयुर्वेदिक अधिकारी डा. राजेन्द्र देव शर्मा ने बताया कि जिला सिरमौर में कोविड-19 के संक्रमण से बचने व लोगो में रोग प्रतिरोधक क्षमता बढाने के लिए आयुष चिकित्सालय नाहन में क्वाथ शाला आरम्भ कर 2000 से अधिक लोगो को आयुष काढा पिलाया गया है। उन्होने बताया कि जिला प्रशासन के सहयोग से  जिला के अन्य पांच स्वास्थ्य खण्डों में क्वाथ शालाएं स्थापित की गई है जिसमें लगभग 3000 लोगो ने आयुष काढा का सेवन किया है। इसके अतिरिक्त पूरे जिला में आयुर्वेदिक विभाग व जिला प्रशासन द्वारा कोविड-19 संक्रमितों व कोरोना वारिर्यस में 12000 से अधिक आयुष किट वितरित किये गए है।