धर्मशाला के विधायक विशाल नेहरिया ने जारी किया एक साल का रिपोर्ट कार्ड

147

पर्यटन को बढ़ावा, किसानों को सम्मान

होटल मैनेजमंेट संस्थान और अटल आदर्श विद्यालय से मिलेगी गुणात्मक शिक्षा
कैमल रोड मंे पर्यटक करेंगे सैर सपाटा
किसानों को प्रदान किया 64.86 लाख का लाभ
धर्मशाला, 23 अक्तूबर: विधान सभा क्षेत्र धर्मशाला में विधायक विशाल नेहरिया ने अपने एक साल के कार्यकाल में जहां पर्यटन को पंख लगाने के लिये कार्य किया है वहीं किसानों के सम्मान के लिये भी भरसक प्रयास किये हैं। धार्मिक पर्यटन की दृष्टि से अति महत्वपूर्ण डल झील के संरक्षण के लिये एनआईटी मंडी विशेषज्ञों से सहायता ली गई है। अब डल झील का संरक्षण विशेषज्ञों की राय से ही किया जायेगा। इसके अलावा गुणात्मक शिक्षा के लिये होटल मैनेजमंेट संस्थान और अटल आदर्श विद्यालय जैसे संस्थान धर्मशाला की झोली में डाले हैं। एक साल में कृषि विभाग के माध्यम से क्षेत्र के किसानों को 64.86 लाख रुपये तथा बागवानी विभाग माध्यम से 12 लाख 14 हजार 42 रुपये के लाभ उपदान के रूप में विभिन्न किसानों को पहुंचाये गये हैं।
शुक्रवार को विधायक विशाल नेहरिया ने अपने एक साल के कार्यकाल का रिपोर्ट कार्ड जारी किया है। विधायक ने कहा कि धर्मशाला विधान सभा क्षेत्र में करीब 4 हजार परिवारों के घरों में पानी के नल नहीं थे, जीत के पहले दिन ही इन घरों में नल पहंुचान का लक्ष्य रखा गया था, इन घरों में पेयजल पहुंचाने का कार्य प्रगति पर है। चुनावों से पूर्व नेता नहीं बेटा बनकर धर्मशाला की जनता की सेवा करने का प्रण लिया था, उसी प्रकार ईमानदारी से जनता की सेवा का कार्य कर रहा हूं।
बाक्स:
राजकीय महाविद्यालय धर्मशाला को उत्कृष्ट महाविद्यालय का दर्जा मिला है। महाविद्यालय के विकास के लिये सरकार से 4 करोड़ रुपये की धनराशि मिलेगी। इसके अलावा पंचायत समिति धर्मशाला को सराहनीय कार्य करने पर राष्ट्रीय स्तर पंडित दीन दयाल उपाध्याय सशक्तिकरण पुरूस्कार जिसके तहत 25 लाख रुपये धर्मशाला के विकास के लिये प्राप्त हुये।
बाक्स:
विकास खंड धर्मशाला के ढ़गवार, पंतेहड़, पासू, टंग नरवाणा, नरवाणा खास व सुक्कड़ में पंचवटी पार्क बनाया जायेगा। पंचायत समिति कार्यालय मेें सोलर पावर ग्रिड स्थापित किया। विधायक क्षेत्र विकास निधि के तहत धर्मशाला विकास खंड में 48.40 लाख रुपये से विकास कार्य किये जायेंगे। मनरेगा के तहत व्यक्तिगत कार्यों के लिये 6.20 करोड़ रुपये स्वीकृत हुये जिससे पशुशाला, बकरी शेड, मतस्य पालन, बगीचा लगाने सहित अन्य व्यक्तिगत कार्य किये जा रहे हैं। धर्मशाला विकास खंड को विभिन्न कार्यों के लिये 50 लाख रुपये मुख्यमंत्री रीलीफ फंड के तहत दिया गया है।
बाक्स:
स्वास्थ्य के क्षेत्र में धर्मशाला अस्पताल के 300 बैड पर पाईप लाईन के माध्यम से आक्सीजन सुविधा उपलब्ध करवाई गई। अस्पताल में कोविड-19 मरीजों के लिये 11 वेंटिलेटर उपलब्ध करवाये गये हैं।
बाक्स:
धर्मशाला महाविद्यालय मेें निर्माणाधीन साईंस ब्लॉक के लिये 30 लाख रुपये की ग्रांट दी गई जबकि रूसा के तहत 1.50 करोड़ प्रदान की गई। धर्मशाला कॉलेज की लैब की मरम्मत के लिये 8.50 लाख रुपये जारी किये गये। इसके अलावा फिजिक्स लैब पर 5.50 लाख रुपये से मरम्मत कार्य किये गये। छात्राओं के हास्टल में फर्नीचर उपलब्ध करवाने के 7 लाख रुपये प्रदान किये। 2.75 लाख रुपये से पीजीडीसीए लैब अपग्रेड की गई। जियोलॉजी विभाग के भवन की मरम्मत पर 12.75 लाख रुपये व्यय किये गये। जीआईएस जियोग्राफी लैब मेें नये उपकरण एवं कम्पयूटर उपलब्ध करवाने के लिये 10.60 लाख रुपये व्यय किये गये। छात्राओं एवं छात्रों के छात्रावास पर 6.50 लाख रुपये व्यय किये। एमएससी, केमिस्ट्री तथा जियोग्राफी विभागों के लिये लाईब्रेरी को 4.75 लाख रुपये की पुस्तकें उपलब्ध करवाई। इंडियन एसेंट विजडम विषय का नया सर्टिफिकेट कोर्स आरंभ किया गया। धर्मशाला विधानसभा क्षेत्र के स्कूलों में विभिन्न विकास कार्यों के लिये 51,29,368 रुपये जारी किये गये हैं। इसके अलावा फर्नीचर, स्पोर्टस एवं खेल-कूद गतिविधियों के लिये 37,35,300 रुपये जारी किये गये हैं। स्कूलों में खेल मैदान और कमरों सहित अन्य मरम्मत कार्यों के लिये 29,48000 रुपये जारी किये गये।
बाक्स:
विधानसभा क्षेत्र में पेयजल और सिंचाई योजनाओं पर अभूतपूर्व कार्य हुये हैं। इस दौरान करीब 4 करोड 65 लाख 19 हजार रुपये से 2 एमएलए प्राथमिकता, 03 सिंचाई योजनायें, पीएमकेएसवाई के तहत 10 योजनायें, स्मार्ट सिटी परियोजना के तहत एक पेयजल आपूर्ति योजना और स्मार्ट सिटी के तहत एक सीवरेज योजना की डीपीआर सरकार को भेजी गई है। इसके अलावा हिमकैड के तहत 09 और पीएमकेएसवाई के तहत 07 योजनाओं को स्वीकृति मिली है। गत एक वर्ष के दौरान 175.87 हैक्टेयर कृषि भूमि पर सिंचाई सुविधायें उपलब्ध करवाई गई हैं जिससे 2173 परिवारों को लाभ पहुंचा है, तथा सिंचाई सुविधा को 200 हैक्टेयर क्षेत्र में उपलब्ध करवाने का लक्ष्य रखा गया है। धर्मशाला में विभिन्न पेयजल योजनाओं पर लगभग 50 करोड़ रुपये व्यय किये जा रहे हैं।

बाक्स:
धर्मशाला में पर्यावरण संरक्षण के लिये करीब 45,115 पौधे रोपित किये गये हैं। इसमें 36,500 पौधे सामान्य पौधरोपण कार्यक्रमों के तहत 8000 पौधे केम्पा और 123 घरों में एक बूटा बेटी के नाम योजना के तहत 615 पौधे रोपित किये गये हैं।
बाक्स:
धर्मशाला में 7 किसानों को उपदान पर ट्रैक्टर पावर वीडर, ब्रश कटर इत्यादि उपलब्ध करवाये गये हैं। इसके लिये 20 लाख 53 हजार 500 रुपये उपदान किसानों को दी गई। 51 किसानों को पावन वीडर/ ब्रश कटर उपदान पर उपलब्ध करवाया गया जिस पर 11 लाख 65 हजार रुपये उपदान प्रदान किया गया। एक मल्टीक्रॉप थ्रेशर के लिये 30 हजार रुपये तथा एक रोटवेटर के लिये 42 हजार रुपये उपदान प्रदान किया गया। 5 किसानों को सोलर फंेसिंग के लिये 12 लाख 20 हजार 130 रुपये उपदान दिया गया। 2723 किसानों को विभिन्न कृषि उपकरण प्रदान करने के लिये 14 लाख 20 हजार 706 रुपये के उपदान का लाभ दिया गया। 3250 किसानों को विभिन्न बीज उपलब्ध करवाने के लिये 4 लाख 21 हजार 698 रुपये का लाभ प्रदान किया गया। 1050 किसानों को प्लॉंट संरक्षण कैमिकल प्रदान करने के लिये 77,880 रुपये उपदान प्रदान किया। 687 किसानों केे खेतों का मृदा परीक्षण करवाया गया। 08 किसानों को वर्मी पिट्स के लिये 44 हजार तथा 15 किसानों को अजोला पिट्स के लिये 41,250 रुपये का लाभ दिया गया।
बाक्स:
धर्मशाला विधान सभा क्षेत्र में 16 नये विद्युत ट्रांसफार्मर स्थापित किये गये हैं तथा 5 नये विद्युत ट्रांसफार्मर स्थापित करने का कार्य चल रहा है। इसके अलावा 18 ट्रांसफार्मर को उच्च क्षमता के ट्रांसफार्मर से बदला गया है। 5 ट्रांसफार्मर को उच्च क्षमता के ट्रांसफार्मर से बदलने का कार्य प्रगति पर है। क्षेत्र में 16 किलोमीटर की उच्च वेग, कम वेग की विद्युत लाईनों को बदला गया है और 10 किलोमीटर की उच्च वेग और कम वेग की लाईनों को बदलने का कार्य चल रहा है। विधायक निधि के 5 लाख रुपये से कम वेग की पुरानी लाईनों को बदला गया है तथा सिंगल फेस लाईन से दो फेस तथा दो फेस लाईन से 3 फेस लाईनों मंे बदला गया है।
बाक्स:
धर्मशाला विधान सभा क्षेत्र में 12.585 किलोमीटर सड़कों का सुधारीकरण किया गया है तथा 4.630 किलोमीटर सड़क वाहन योग्य, 7 किलोमीटर क्रॉस ड्रेनेज, 3.41 किलोमीटर सड़क की सोलिंग डालने का कार्य किया गया है। 21.690 किलोमीटर सड़क पर टारिंग का कार्य किया गया है। 4.47 किलोमीटर पर सिमेंट कंकरीट का कार्य किया है। 8.85 किलोमीटर ड्रेनेज का कार्य किया गया है तथा 358 नये पैरापिट स्थापित किये गये हैं। बागन खड्ड पर 15.25 मीटर स्पैन पुल, मनूनी खड्ड पर 25 मीटर स्पैन ब्रिज, मनूनी खड्ड पर खनियारा से रक्कड़ रोड पर स्पैन आरआरसी ब्रिज का कार्य पूर्ण कर लिया गया है। इसके अलावा धर्मशाला डाढ पालमपुर रोड पर बागन खड्ड पर 50 मीटर पुल, ढगवार में घुरलु नाला पर 15 मीटर जीप योग्य ब्रिज, भागसूनाग के समीप चरान खड्ड पर, पधर में इक्कू खड्ड पर फुटब्रिज का कार्य प्रगति पर है। सकोली को सड़क सुविधा के साथ जोडा गया है और थातरी को सड़क से जोडा जा रहा है। आयुर्वेदिक हैल्थ सेंटर चोहला का कार्य पूर्ण हो गया है जबकि कोषागार के बैठक कक्ष और आवासों का कार्य प्रगति पर है। जोनल अस्पताल धर्मशाला में जिला स्टोर एवं वेयर हाउस का कार्य पूर्ण कर लिया गया है। जिला आयुर्वेदिक अस्पताल में स्टोर तथा सर्किट हाउस धर्मंशाल में बैठक कक्ष, कोर्ट परिसर धर्मशाला में सम्पर्क ओवरब्रिज का कार्य पूरा कर लिया गया है। जोनल अस्पताल धर्मशाला में स्टॉफ क्वाटर, सीएमओ आवास के नजदीक स्टॉफ क्वाटर, राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला घनियारा क्लास रूम और सिटी लाईवलीहुड सेंटर, डिग्री कॉलेज का साईंस ब्लॉक, दाड़ी में ईवीएम और वीवीपैट रखने के लिये भवन तथा शहीद स्मारक के संग्रहालय का कार्य प्रगति पर है।
बाक्स:
स्मार्ट सिटी के तहत वार्ड नम्बर 6 में संजय मार्ग, वार्ड नम्बर 2 में कैमल ट्रैक, वार्ड नम्बर 6 में एमसी कार्यालय से गैस एजेंसी तक 6.82 करोड़ रुपये की स्मार्ट स्ट्रीट का कार्य प्रगति पर है। इसके अलावा 9 करोड़ रुपये से विभिन्न स्थानों पर इंटैलिजंेट बैरियर फ्री बस शैल्टर, 23.64 करोड़ रुपये से पैदल मार्ग और सीढ़ियों के उन्नयन का कार्य, एसपी तथा डिविजन आयुक्त कार्यालय के कार्यालयों में 50 लाख रुपये रूफटॉप सोलर प्लांट लगाने का कार्य प्रगति पर है। स्मार्ट सिटी परियोजना के तहत मैक्लोडगंज से नडडी तक 1.38 करोड़ रुपये व्यय कर विभिन्न कार्य कर ईको पर्यटन को बढ़ावा दिया जायेगा। इसके अतिरिक्त 4.86 करोड़ रुपये से दलाई लामा मंदिर के समीप मल्टीस्टोरी पार्किंग का निर्माण किया जायेगा और नडडी में 2.79 करोड़ रुपये रूटजोन ट्रीटमेंट लगाया जायेगा। इसके साथ ही 56 लाख रुपये से खनियारा पुल के समीप में मोक्षधाम ब्रिज का सौन्दर्यकरण किया जायेगा।
बाक्स:
भागसूनाग, अघंजर महादेव खनियारा और चामुण्डा मंदिरों के लिये एडीबी के तहत चल रहे कार्यों को गति प्रदान की गई है।
विधान सभा क्षेत्र धर्मशाला के विधायक विशाल नैहरिया जी ने अपने छह माह के कार्यकाल में धर्मशाला के लिए अटल आदर्श विद्यालय की मंजूरी दिलाई है, तो धर्मशाला को होटल मैनेजमेंट इंस्टिट्यूट भी दिलाया है। विधायक जी ने रविवार को अपना छह माह का रिपोर्ट कार्ड जारी किया है। छह माह के कार्यकाल में विभिन्न विभागों को विकास के लिए ढाई करोड़ रुपये की स्वीकृति करवाई गई है, जिस धनराशि से नगर निगम धर्मशाला और पंचायत एरिया में विकास कार्य होंगे। विधायक के छह माह के कार्यकाल में धर्मशाला में पर्यटन के लिए काला पुल से मैक्लोडगंज कैमल रोड का प्रोजेक्ट तैयार हो गया है, जबकि इसे एप्रुवल के लिए भेजा गया है। इसकी एप्रुवल मिलते ही कैमल रोड का काम शुरू हो जाएगा। काला पुल से मैक्लोडगंज के लिए यह पैदल रास्ता होगा, जिसमें पर्यटकों को आधारभूत सुविधाएं भी मिलेंगी। इसके अलावा शिक्षा के क्षेत्र में इस साल बजट में धर्मशाला में लोक भवन और प्रबंधकीय प्रशिक्षण संस्थान, तो माननीय मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर जी के ड्रीम प्रोजेक्ट् अटल आदर्श विद्यालय के लिए कंडी में जमीन मुहैया करवा दी गई है, स्कूल के लिए प्रदेश सरकार ने अधिसूचना भी जारी कर दी है। यह पूरी प्रक्रिया मात्र दो माह में पूरी की गई है। छह माह में विधायक विशाल नैहरिया जी के समक्ष करीब 1000 विभिन्न तरह की व्यक्तिगत एवं सामूहिक शिकायतें पहुंची हैं, जिनमें बिजली और पानी से संबंधित समस्याओं का निपटारा कर दिया गया है, जबकि रोड और पुलों से संबंधित समस्याओं के निपटारे के लिए कार्य प्रगति पर है। इसके अलावा करोना महामारी के बीच लोगों की समस्याओं को सुलझाने के लिए बेटा हेल्पलाइन शुरू की गई है, जिसमें बिजली, पानी, राशन, पास सहित अन्य समस्याएं आ रही हैं। छह माह में विधान सभा धर्मशाला क्षेत्र की सभी पंचायतों और नगर निगम के वार्डों का दौरा किया गया है। अगले चरण में बूथ स्तर पर लोगों के साथ मिलकर उनकी समस्याएं हल होंगी।
विशाल नेहरिया ने कहा कि धर्मशाला में आईपीएच सब डिविज तथा धर्मशाला शहर में बड़ा तिरंगा स्थापित करने बल्मीकी सभा और गुरु रवि दास सभा की मांग पर शहर में डॉ0 भीमराव अंबेदकर की मूर्ति स्थापना, गोरखा समुदाय से संबंधित संस्थाओं की मांग पर शहीद मेजर अभिजय थापा गेट की स्थापना करने को लेकर की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है। इसके अलावा एतिहासिक धुम्मू शाह मेला को जिला स्तरीय घोषित करवाने का प्रयास जारी है। छावनी बोर्ड योल के सात वार्डों की जनता की समस्याओं को विधान सभा में प्रमुख्ता के साथ उठाया गया है।
000