नए जिलों के गठन के प्रस्ताव और विचार को महज एक चुनावी शगूफा : कुलदीप राठौर

123

कुलदीप सिंह राठौर ने भाजपा नेताओं के प्रदेश में नए जिलों के गठन के प्रस्ताव और विचार को महज एक चुनावी शगूफा बताया।उन्होंने कहा कि सरकार पहले यह बताए कि नए जिलों के प्रस्ताव की कार्य योजना क्या है।इसके लिए पैसा कहा से आएगा।उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री जहां जहां उप चुनाव है,वहां सब तहसीलें, उप मंडल कार्यलय व अन्य कई घोषणाएं कर रहें है,जबकि प्रदेश सरकार के पास पैसा ही नही है।सरकारी कर्मचारियों के वेतन भत्ते कर्ज लेकर दिए जा रहें है।
राठौर ने सरकार के जनमंच कार्यक्रम फिर से शुरू करने पर सवाल किया कि एक तरफ कोरोना की तीसरी लहर का डर,क्या कोरोना नही फैलेगा।उन्होंने कहा कि सरकार ने एकतरफ भीड़ पर अंकुश लगा रखा है और दूसरी तरह अपने समारोह में भीड़ जुटा रहें है।उन्होंने कहा कि वैसे भी जनमंच से कुछ हासिल नही हुआ है।केवल अधिकारियों की लोगों के समक्ष डांट फटकार का ही यह मंच है।
गैस सिलेंडर के बढ़े दामों की आलोचना करते हुए उन्होंने कहा कि जबतक भाजपा सत्ता में बैठी रहेगी,तबतक महंगाई इसी रफ्तार से बढ़ती रहेगी।
कांग्रेस के खिलाफ चार्जशीट के सवाल के जवाब में राठौर ने कहा कि चार साल से तो सरकार ने कोई जांच नही की।उन्होंने कहा कि अब चुनाव नजदीक आते,अधिकारियों पर दवाब बनाने और लोगों में भ्रम पैदा करने की एक असफल कोशिश है,कांग्रेस इससे कदापि डरने वाली नही।