नड्‌डा और अनुराग ठाकुर ने की एम्स के निर्माण कार्य की समीक्षा

204

आज केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया ने, भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व में स्वास्थ्य मंत्री रहे जे.पी नड्डा व केंद्रीय खेल व यूथ अफेयर्स एवं सूचना एवं प्रसारण मंत्री अनुराग ठाकुर व अन्य अधिकारियों के साथ AIIMS बिलासपुर, हिमाचल प्रदेश की समीक्षा बैठक ली। जिसमें AIIMS बिलासपुर के निर्माण कार्य को लेकर चर्चा हुई।

भाजपा अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा ने कहाँ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का हिमाचल को हमेशा विशेष प्रेम मिला। हिमाचल को AIIMS की सौग़ात देने के लिए पूरा हिमाचल उनका धन्यवादी है।
बिलासपुर AIIMS के बनने से हिमाचल के स्वास्थ्य जगत को बहुत बड़ी ताक़त मिलेगी। सिर्फ़ हिमाचल ही नहीं पूरे उत्तर भारत के लोगों को अत्याधुनिक स्वास्थ्य सुविधाएँ मिलेगी। स्वास्थ्य के साथ साथ रोज़गार के नए मौक़े मिलेंगे।
बिलासपुर Aiims का काम बहुत तेज़ी से चल रहा है। 2022 में अत्याधुनिक स्वास्थ्य सुविधाएँ स्वास्थ्य सुविधाओं से लैस ये संस्थान पूरे उत्तर भारत को प्रधानमंत्री की सौग़ात के रूप में मिल जायगा।
प्रधानमंत्री का ने संकल्प है कि हर देशवासी को अच्छी से अच्छी स्वास्थ्य सुविधा मिले और इसे साकार करने के लिए उन्होंने अपनी सरकार में 15 AIIMS की शुरुआत की। मोदी जी ने हर ज़िले में मेडिकल कालेज का काम शुरू किया। मेडिकल की सीटों में अभूतपूर्व वृद्धि हुई।
जगत प्रकाश नड्डा जी ने सत्तत निगरानी के लिए स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडविया जी का आभार व्यक्त किया और अनुराग ठाकुर जी की सराहना की और राज्य सरकार द्वारा बुनयादी सुविधाएँ मुहैया करने के लिए जयराम जी का धन्यवाद दिया

केंद्रीय मंत्री मनसुख मांडविया ने निर्देश दिए की AIIMS बिलासपुर का निर्माण कार्य 2022 तक की समय सीमा में पूर्ण किया जाना चाहिए। AIIMS बिलासपुर के प्रारंभ हो जाने से हिमाचल प्रदेश की जनता को जनता को काफ़ी लाभ होगा। अच्छी स्वास्थ्य सुविधाओं के साथ जो लोग दिल्ली आकर अपना इलाज करवाते थे उन्हें अब अपने गृह राज्य में ही बेहतर तकनीक व अनेक रोगों के विशेषज्ञ विभागों के होने का लाभ भी प्राप्त होगा।

हिमाचल प्रदेश एक दुर्गम क्षेत्र वाला राज्य है। वहां स्वास्थ्य सुविधाओं का पहुँच पाना भी एक कठिन कार्य है। ऐसे में AIIMS बिलासपुर का होना एक क्रांतिकारी कदम होगा इससे वहां के लोगों को रोज़गार भी उपलब्ध होगा एवं मेडिकल के छात्रों को भी अधिक सुविधाजनक एवं बेहतर रीसर्च की सुविधा उपलब्ध होगी।