मंत्री राजिन्द्र गर्ग ने जन सहयोग आदोलन का किया शुभारम्भ और दिलाई शपथ

128

बिलासपुर 14 अक्तूबर:- खाद्य, नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता मामले तथा
मुद्रण एवं लेखन सामग्री मंत्री राजिन्द्र गर्ग ने कोविड-19 कोरोना वायरस
की समीक्षा बैठक की अध्यक्षता की। इस अवसर पर उन्होंने कोविड-19 के
सम्बन्ध में जन सहयोग आदोलन का शुभारम्भ किया तथा विभिन्न विभागों से आए
हुए सभी अधिकारियों को कोविड-19 से बचने सम्बन्धी जन सहयोग आदोलन की शपथ
दिलाई।
उन्होंने स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को निर्देश देेते हुए कहा कि
वह कोविड केयर सेंटरों का नियमित रूप से निरीक्षण तथा वहां पर स्थापित
आॅक्सीजन सिलेडरों की भी जांच करें ताकि मरीजों को किसी भी प्रकार की
कठिनाई का सामना न करना पडे।
उन्होंने बताया कि कोविड-19 कोरोना महामारी से निपटने के लिए 4
डेडिकेटिड कोविड केयर सेंटर, 1 डेडिकेटिड कोविड हैल्थ सेंटर तथा 2
स्थानों पर आइसोरेशन क्वारटाईन सुविधाएं है। उन्होंने कहा कि जिला में 17
वेंटिलेटर और 150 पल्स आॅक्सीमीटर उपलब्ध है। उन्होंने बताया कि वर्तमान
में 160 कोरोना के एक्टिव मामले है जिनमें से 114 होम आइसोलेशन है।
उन्होंने बताया कि स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों और कर्मचारियों द्वारा
नियमित रूप से काउसलिंग की जा रही है तथा केन्द्रों में योगा, मेडिटेशन,
संगीत की भी सुविधाएं प्रदान की गई है।
उन्होंने बताया कि कोविड-19 के विषय पर सभी को ज्ञान होना जरूरी है कैसे
बचना है और दूसरों को कैसे बचाना है तभी जाकर हम लोग कोविड-19 से बच सकते
है। उन्होंने कहा कि लोगों को नियमित रूप से कोरोना से बचने के बारे में
जागरूक करते रहे ताकि इस महामारी से निपटा जा सके।
मुख्य चिकित्सा अधिकारी डाॅ. प्रकाश दरोच ने कोरोना महामारी से निपटने के
लिए किए जा रहे कार्यों की विस्तृत रिपोर्ट प्रस्तुत की। उन्होंने बताया
कि जिला में प्रतिदिन कोविड-19 के रैपिड एंटीजन टैस्ट से 200 टैस्ट किए
जा रहे है।
इस अवसर पर विधायक जीत राम कटवाल, उपायुक्त राजेश्वर गोयल, पुलिस अधीक्षक
दिवाकर शर्मा, एडीसी तोरूल रवीश, मुख्य चिकित्सा अधिकारी डाॅ. प्रकाश
दरोच के अतिरिक्त सभी विभागों के अधिकारी और गैर-सरकारी सदस्य उपस्थित
रहे।