मुख्यमंत्री ने हरोली विधानसभा क्षेत्र के लिए 71.16 करोड़ रुपये की विभिन्न विकासात्मक परियोजनाओं के शिलान्यास व लोकार्पण किए

188

मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने आज जिला ऊना के हरोली विधानसभा क्षेत्र में लगभग 71.16 करोड़ रुपये की विकासात्मक परियोजनाओं के शिलान्यास व लोकार्पण किए।

मुख्यमंत्री ने 3.50 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र दुलेहड़ के नए भवन, गांेदपुर में 4.68 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित 33 केवी उप-केन्द्र और बाथु-बठारी काॅरीडोर क्लस्टर क्षेत्र में 1.25 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित जलापूर्ति योजना के उद्घाटन किए।

जय राम ठाकुर ने जल जीवन मिशन के तहत हरोली विधानसभा क्षेत्र में शेष बचे हुए गांवों के लिए 3.75 करोड़ रुपये की लागत से बनने वाली पेयजल आपूर्ति योजना, 30 करोड़ रुपये की लागत से एनएच-503ए झलेड़ा-घालुवाल सड़क के उन्नयन और सुधार कार्य, 9.21 करोड़ रुपये की लागत से पुरानी सलोह-भरोटी सड़क का स्तरोन्यन कार्य, पंडोगा में 8 करोड़ रुपये की लागत से बनने वाले आईटीआई के नए भवन, 2.60 करोड़ रुपये की लागत से बनने वाले पंजावर-बठारी से माता का मन्दिर लोअर बढेरा सड़क वाया राजेश हाउस नालका से कुम्हारन आबादी सम्पर्क मार्ग, 7.25 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित होने वाली पंजावर-बठारी से लालड़ी-नंगल कलां-जाटपुर सड़क के सुदृढ़ीकरण और औद्योगिक क्षेत्र टाहलीवाल फेस-3 में 92 लाख रुपये की लागत से बनने वाले अपशिष्ट जल निष्पादन के लिए नालियों के निर्माण कार्य की भी आधारशिला रखी।

इसके उपरान्त ऊना जिला के टाहलीवाल में जनसभा को सम्बोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि विश्व आज कोरोना महामारी के खतरनाक दौर से गुजर रहा है। उन्होंने कहा कि इस महामारी से निपटने के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी देश का प्रभावशाली तरीके से मार्गदर्शन कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि इस महामारी से निपटने के लिए विश्व के सबसे विकसित देश भी भारत से मार्गदर्शन की आशा कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि विपक्ष के नेता इस संवेदनशील मुद्दे पर भी राजनीति करने का प्रयास कर रहे हैं, जो उनकी सत्ता के लालच को दर्शाता है। उन्होंने कहा कि बाहरी राज्यों में फंसे लगभग 2.50 लाख हिमाचलियों को प्रदेश वापिस लाया गया, परन्तु कांग्रेस नेता इसे भी मुद्दा बनाकर राजनीति कर रहे हैं और सरकार पर प्रदेश में कोरोना फैलाने का दोष लगा रहे हैं। उन्होंने कहा कि इस महामारी को फैलने से रोकने के लिए प्रदेश सरकार द्वारा उठाए गए कदमों को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा भी सराहा गया है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि विपक्ष के नेता सुर्खियों में बने रहने के लिए वर्तमान प्रदेश सरकार पर आधारहीन आरोप लगा रहे हैं। उन्होंने कहा कि कांग्रेस केवल राजनीति और ख्याली पुलाव बनाने में विश्वास रखती है लेकिन वर्तमान प्रदेश सरकार सपनों को साकार करने में विश्वास रखती है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के कुशल नेतृत्व के कारण भारत आज सशक्त और जीवन्त राष्ट्र बन कर उभरा हैै। उन्होंने कहा कि अधिनियम 370 को समाप्त करने से आज कश्मीर से कन्याकुमारी तक एक भारत का सपना साकार हुआ है। इसी प्रकार नरेन्द्र मोदी की दृढ़ इच्छाशक्ति के परिणामस्वरूप ही अयोध्या में भगवान राम मन्दिर के निर्माण के लिए भूमि पूजन संभव हुआ।

जय राम ठाकुर ने कहा कि वर्तमान प्रदेश सरकार इस वर्ष 27 दिसम्बर को अपने तीन वर्ष का कार्यकाल पूरा करने जा रही है। उन्होंने कहा कि इन तीन वर्षों में प्रदेश सरकार ने यह सुनिश्चित किया है कि सरकार द्वारा चलाई जा रही विकासात्मक और कल्याणकारी योजनाएं प्रदेश के अंतिम पायदान तक पहंुचे। उन्होंने कहा कि पूर्व कांग्रेस सरकार के फिजूल खर्चों के कारण वर्तमान प्रदेश सरकार को 47,500 करोड़ रुपये का कर्ज विरासत में मिला था, जो प्रदेश के विकास में सबसे बड़ी बाधा थी। उन्होनंे कहा कि प्रदेश सरकार के जन मंच कार्यक्रम से राज्य के लोगों को घर-द्वार पर उनकी समस्याओं के त्वरित समाधान संभव हो सका है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री हेल्पलाइन 1100 इस दिशा में एक और प्रयास है और इसके तहत लगभग एक लाख समस्याओं का समाधान किया गया है। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार यह भी सुनिश्चित कर रही है कि कोई भी झूठी शिकायत दर्ज न हो और दोषियों के विरूद्ध कार्रवाई अमल में लाई जाए।

मुख्यमंत्री ने कहा कि गृहिणी सुविधा योजना के तहत पात्र परिवारों को लगभग 2.78 लाख निःशुल्क गैस कनेक्शन वितरित किए गए और प्रदेश देश का पहला धुआंरहित राज्य बन गया है। उन्होंने कहा कि इसके अतिरिक्त 1.36 लाख परिवारों को केन्द्र सरकार की उज्ज्वला योजना के तहत लाया गया है। उन्होंने कहा कि आयुष्मान भारत योजना के तहत न आने वाले परिवारों के लिए प्रदेश सरकार ने हिमकेयर योजना शुरू की है, जिसके तहत 92 करोड़ रुपये खर्च कर अब तक प्रदेश के लगभग एक लाख लोगों को लाभान्वित किया गया है।

जय राम ठाकुर ने कहा कि केन्द्र सरकार ने देश में तीन बल्क ड्रग पार्क स्थापित करने का निर्णय लिया है और प्रदेश सरकार इनमें से एक ड्रग पार्क राज्य के लिए स्वीकृत करने के प्रयास कर रही है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने हरोली क्षेत्र में इस पार्क को स्थापित करने का निर्णय लिया है, जिससे इस पार्क में लगभग 10 हजार करोड़ रुपये का निवेश सुनिश्चित होने के अलावा क्षेत्र के हजारों युवाओं को रोजगार और स्वरोजगार उद्यम स्थापित करने के अवसर प्राप्त होंगे। उन्होंने कहा कि विपक्ष के नेता प्रदेश सरकार द्वारा की गई इस ऐतिहासिक पहल का भी विरोध कर रहे हैं। विपक्ष को इस बल्क ड्रग पार्क का विरोध करने के बजाए इस निर्णय का स्वागत करना चाहिए और इसमें प्रदेश सरकार का सहयोग करना चाहिए।

मुख्यमंत्री ने कहा कि स्वां नदी के तटीकरण का कार्य शीघ्र पूरा किया जाएगा और ऊना में गैरकानूनी खनन की निगरानी के लिए माइनिंग चेक पोस्ट स्थापित की जाएगी।

इससे पूर्व, दुलेहड़ आगमन पर मुख्यमंत्री का क्षेत्र के स्थानीय नेताओं व लोगों द्वारा भव्य स्वागत किया गया।

इसके उपरांत, मुख्यमंत्री ने हरोली विधानसभा क्षेत्र के पोलियान गांव में बल्क ड्रग पार्क परियोजना के लिए प्रस्तावित स्थल का निरीक्षण भी किया।

ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज मंत्री वीरेन्द्र कंवर ने कहा कि मुख्यमंत्री ने आश्वासन दिया है कि धन की कमी के कारण राज्य में विकासात्मक कार्य प्रभावित नहीं होंगे। उन्होंने कहा कि कोविड-19 महामारी के दौरान मुख्यमंत्री ने प्रभावी ढंग से राज्य का मार्गदर्शन किया और देश के विभिन्न भागों में फसे लगभग अढ़ाई लाख लोगों को प्रदेश में वापिस लाया गया है।

उन्होंने कहा कि जब भी भाजपा हिमाचल प्रदेश में सत्ता में आई, राज्य में अद्वितीय विकास हुआ है। उन्होंने कहा कि स्वां नदी पर केवल चार खनन पट्टे हैं, लेकिन पूर्व राज्य सरकार के कार्यकाल में यह संख्या 93 हो गई थी, जिससे गैर कानूनी और अवैज्ञानिक खनन को बढ़ावा मिला, जो इस क्षेत्र के कांग्रेस नेताओं का दोगला चेहरा दर्शाता है।

उद्योग मंत्री बिक्रम सिंह ने कहा कि जब मुख्यमंत्री कोरोना महामारी से स्वस्थ हो रहे थे, उस दौरान भी उन्होंने हरोली में बल्क ड्रग पार्क की स्वीकृति के लिए केंद्रीय नेताओं व राज्य अधिकारियों के साथ निरंतर वर्चुअल बैठकें की।

बहुद्देश्यीय परियोजना एवं ऊर्जा मंत्री सुख राम चैधरी ने कहा कि राज्य सरकार प्रदेश के प्रत्येक क्षेत्र का सामान्य व संतुलित विकास सुनिश्चित कर रही है। उन्होंने कहा कि वर्तमान राज्य सरकार मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर के कुशल नेतृत्व में सभी क्षेत्रों का अभूतपूर्व विकास सुनिश्चित कर रही है।

राज्य औद्योगिक विकास निगम के उपाध्यक्ष प्रोफेसर राम कुमार ने मुख्यमंत्री का स्वागत किया तथा क्षेत्र की विभिन्न विकासात्मक मांगों से अवगत करवाया। उन्होंने कहा कि हरोली विधानसभा क्षेत्र में यह मुख्यमंत्री का सातवां दौरा है, जो मुख्यमंत्री की क्षेत्र के विकास के प्रति संवेदनशीलता को दर्शाता है। उन्होंने कहा कि आज मुख्यमंत्री द्वारा रखी गई अधिकतर परियोजनाओं की आधारशिला और भूमि पूजन, क्षेत्र के लोगों की लंबित मांगे थीं। उन्होंने क्षेत्र के लोगों की विकासात्मक मांगों पर सहानुभूतिपूर्वक विचार करने के लिए मुख्यमंत्री का आभार व्यक्त किया। उन्होंने गैर कानूनी चिट्टा व्यापार में शामिल युवाओं को संरक्षण देने का पूर्व सरकार पर आरोप लगाया।

भाजपा मंडल अध्यक्ष रविन्द्र जसवाल ने इस अवसर पर मुख्यमंत्री व अन्य अतिथिगणों का स्वागत किया।

राज्य वित्त आयोग के अध्यक्ष सतपाल सत्ती, उपाध्यक्ष हिमुडा प्रवीण शर्मा, विधायक राजेश ठाकुर, एपीएमसी ऊना के अध्यक्ष बलबीर बग्गा, उपायुक्त ऊना राघव शर्मा, पुलिस अधीक्षक ऊना अर्जित सेन ठाकुर भी इस अवसर पर अन्य सहित उपस्थित थे।