राकेश पठानिया ने रचा जीत का इतिहास, नूरपुर में मनाया जीत का जश्न

275

शिमला. पंचायती राज चुनाव में कांगड़ा संसदीय क्षेत्र के इंचार्ज और वन मंत्री राकेश पठानिया ने नूरपुर में नगर परिषद में जीत दर्ज कर इतिहास रचा है। नूरपुर नगर परिषद में भाजपा समर्थित उम्मीदवारों की जीत दर्ज होने पर जश्न के साथ आभार रैली निकाली गई। नूरपुर नगर परिषद में लंबे समय से कांग्रेस की ही जीत दर्ज होती रही है लेकिन इस बार पठानिया की रणनीति से भाजपा समर्थित उम्मीदवारों जीते हैं। 9 सदस्यीय नगर परिषद में 6 वार्डो में भाजपा समर्थित प्रत्याशी जीते हैं जिससे तय हो गया है कि नगर परिषद अध्यक्ष पद पर भाजपा का ही कब्जा होगा।
कांग्रेस व भाजपा के लिए नाक का सवाल बने नूरपुर नगर परिषद के चुनाव में शहरी सियासत के कांग्रेस पार्टी के अभेद्य दुर्ग में भाजपा ने पहली मर्तबा सेंध लगाकर शानदार जीत दर्ज की है। जहां इस बार निकाय चुनाव में वन मंत्री राकेश पठानिया की अगुवाई में वोट फॉर चेंज के नारे पर चुनाव मैदान में उतरी सत्तारूढ़ भाजपा ने शानदार प्रदर्शन करते हुए कुल नौ वार्डों में से छह वार्डों में कब्जा जमाने में सफल रही तो वहीं, सहानुभूति कार्ड के सहारे अपनी चुनावी नैया को पार लगाने में जुटी कांग्रेस की पतवार भी बदलाव की बयार में बह गई। जहां तक कि कांग्रेस अपने सियासी किले भी नहीं बचा पाई। निवर्तमान नप अध्यक्ष कृष्णा महाजन को भी पहली बार हार का मुंह देखना पड़ा तो वहीं, पूर्व विधायक एवं जिला कांग्रेस अध्यक्ष अजय महाजन के पैतृक वार्ड दो में भी भाजपा पहली दफा जीत करने में कामयाब रही। सबसे रोचक मुकाबला निवर्तमान नप अध्यक्ष कृष्णा महाजन के वार्ड नौ में देखने को मिला। जहां भाजपा के नए चेहरे के तौर पर पहली बार चुनाव में उतरी शिवानी शर्मा ने जबदस्त टक्कर देते हुए बराबर 269-269 मत हासिल किए। जिसके चलते दोनों प्रत्याशियों की सहमति से पर्ची (लाटरी) निकाली गई। जिसमें भाजपा समर्थित शिवानी शर्मा ने जीत हासिल की। वार्ड एक से भाजपा समर्थित करनैल सिंह ने महज 10 वोटों के अंतर से जीत का स्वाद चखा। वार्ड दो से भाजपा समर्थित रजनी महाजन ने कांग्रेस के परंपरागत वार्ड में ऐतिहासिक जीत दर्ज कर इतिहास रचा तो वार्ड तीन से भी भाजपा समर्थित प्रवेश मेहरा, वार्ड पांच से भाजपा समर्थित मीनाक्षी देवी और वार्ड आठ से अशोक शर्मा शिबू ने भी पहली बार जीत का स्वाद चखा। जबकि कांग्रेस खेमे से वार्ड चार से पहली बार अपने पैतृक वार्ड से चुनाव मैदान में उतरे निवर्तमान नप अध्यक्ष कृष्णा महाजन और कांग्रेस के दिग्गज स्व. आरके महाजन के सुपुत्र गौरव महाजन, वार्ड छह से निवर्तमान नप उपाध्यक्ष यशपाल सोगा की पुत्रवधू सोनिया सोगा और वार्ड सात से विनय घई बंटी जीत दर्ज करने में कामयाब रहे। कुलमिलाकर इस बार नूरपुर नप चुनाव में नए चेहरों के सिर पर जीत का सेहरा सजा तो वहीं, यह पहली मर्तबा ही होगा कि सिर्फ वार्ड एक से भाजपा समर्थित करनैल सिंह जोकि एक बार पहले भी पार्षद रह चुके हैं, के अलावा सभी आठ पार्षद पहली बार पार्षद चुने गए हैं।