राजस्व मामले लटकाने की आदत छोड़े अधिकारी, जनता के काम समय पर करें

411

राजस्व सेवाओं के सरलीकरण की दिशा में कार्य कर रही है प्रदेश सरकारः महेंद्र सिंह ठाकुर

राजस्व मंत्री ने की विभागीय अधिकारियों की समीक्षा बैठक की अध्यक्षता

हमीरपुर, 19 अगस्त। जल शक्ति, राजस्व, बागवानी एवं सैनिक कल्याण मंत्री श्री महेंद्र सिंह ठाकुर ने कहा कि प्रदेश सरकार राजस्व मामलों की प्रक्रिया के सरलीकरण की दिशा में कार्य कर रही है, ताकि लोगों को त्वरित एवं सुलभ सेवाएं उपलब्ध करवाई जा सकें। वे आज यहां हमीर भवन में आयोजित राजस्व विभाग के अधिकारियों की समीक्षा बैठक को संबोधित कर रहे थे।

उन्होंने कहा कि राजस्व विभाग में सुधार करते हुए इसे आम जनता के लिए और सुलभ एवं सरल बनाए जाने की दिशा में कार्य करना समय की आवश्यकता है। राजस्व मामलों में पेश आने वाली पेचीदगियों को दूर करते हुए इसका कैसे सरलीकरण किया जाए, इसके लिए सभी राजस्व अधिकारियों का सहयोग अपेक्षित है। इस बारे में मांगी गई सूचना समय पर प्रदान करें और अपने सुझाव भी अवश्य दें, ताकि प्रक्रिया और प्रभावी एवं समयबद्ध बनाई जा सके। इंतकाल, सीमांकन एवं खानदानी हिस्सेदारियों के हस्तातंतरण इत्यादि की प्रक्रिया में लगने वाले समय को कम करने के लिए भी अपने सुझाव दें। उन्होंने कहा कि राजस्व विभाग सीधा आम लोगों से जुड़ा हुआ है और बेवजह मामलों को लटकाने की प्रवृत्ति में अधिकारी बदलाव लाएं।

उन्होंने कहा कि बरसात के मौसम में भारी बारिश से सरकारी व गैर-सरकारी संपत्तियों को हो रहे नुकसान की दैनिक आधार पर ऑनलाईन माध्यम से रिपोर्ट भेजना सुनिश्चित करें, ताकि इसका आकलन कर प्रभावितों को राहत प्रदान करने की दिशा में त्वरित कदम उठाए जा सकें। उन्होंने कहा कि पटवारियों का प्रशिक्षण पूरा होते ही हमीरपुर जिला सहित पूरे प्रदेश में इन्हें नियुक्तियां प्रदान कर दी जाएंगी।

स्थानीय विधायक श्री नरेंद्र ठाकुर ने भी इस अवसर पर अपने बहुमूल्य सुझाव दिए।

बैठक में विभाग से संबंधित 23 मदों पर विस्तार से चर्चा की गई। इस दौरान जिला प्रशासन की पहल पर तैयार हमीरपुर जिला मुख्यालय के आस-पास स्थित सरकारी भूमि के ऑनलाईन नक्शे की भी प्रस्तुति दी गई। राजस्व मंत्री ने इन प्रयासों की सराहना की।

उपायुक्त श्री हरिकेश मीणा ने बैठक का संचालन किया। उन्होंने आश्वस्त किया कि बैठक में दिए गए दिशा-निर्देशों की अक्षरशः अनुपालना सुनिश्चित की जाएगी।

इस अवसर पर अतिरिक्त जिला दण्डाधिकारी श्री जितेंद्र सांजटा सहित सभी एसडीएम, तहसीलदार, नायब तहसीलदार इत्यादि उपस्थित थे।

आर्मी कोचिंग अकादमी की सर्वोच्च प्राथमिकता

इससे पूर्व सैनिक कल्याण विभाग की बैठक को संबोधित करते हुए श्री महेंद्र सिंह ठाकुर ने कहा कि पूर्व सैनिकों, वीर नारियों व शहीदों के परिजनों के कल्याण के लिए प्रदेश सरकार कृतसंकल्प है। मुख्यमंत्री श्री जयराम ठाकुर के नेतृत्व में सरकार ने इनके कल्याण के लिए कई अहम निर्णय लिए हैं। उन्होंने कहा कि सरकाघाट में स्थापित होने वाली आर्मी कोचिंग अकादमी का शिलान्यास इसी वर्ष के जनवरी माह में मुख्यमंत्री द्वारा किया गया था। इस अकादमी की स्थापना को सरकार सर्वोच्च प्राथमिकता प्रदान कर रही है ताकि सेना में भर्ती के इच्छुक युवाओं को बेहतर प्रशिक्षण मिल सके। अकादमी की स्थापना से हमीरपुर सहित अन्य समीपवर्ती जिलों के युवाओं को भी लाभ होगा। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए कि अकादमी की स्थापना के लिए तमाम औपचारिकताएं समय रहते पूर्ण कर लें।