विरोधियों को रास नहीं आ रहा हिमाचल का बढ़ता रुतबा – विनोद ठाकुर

100

शिमला –
भाजपा प्रदेश प्रवक्ता विनोद ठाकुर ने कहा कि कांग्रेस को जयराम सरकार के विकासोन्मुखी प्रयासों से हिमाचल प्रदेश को मिल रहे बड़े प्रोजेक्ट रास नहीं आ रहे। जिन मुद्दों पर कांग्रेस आजतक राजनीति करती आई है मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर एक-एक कर उनको मूर्त रूप देकर खत्म करते जा रहे हैं। इसी कारण विपक्षी दल बौखलाहट में हैं। कांग्रेस नहीं चाहती कि हिमाचल राष्ट्रीय पटल पर अलग पहचान पाए। इसलिए विकास योजनाओं पर बात न कर मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर की हर पहल को कमत्तर साबित करने में समय बर्बाद कर रही है।

विनोद ठाकुर ने कहा कि आज हिमाचल प्रदेश में जयराम सरकार के नेतृत्व में हजारों करोड़ के प्रोजेक्ट कार्यान्वित हैं। निजी कंपनियां भी हिमाचल में बेहतरीन मौकों को भुनाने के लिए आगे आ रही हैं। हाल ही में 15 हजार करोड़ रुपये का निवेश प्रदेश के इंट्रस्ट्रियल एरिया में तय हुआ है। जल्द ही 15 से 20 हजार करोड़ रुपये का और निवेश निजी क्षेत्र में होने वाला है। ईज ऑफ डुइंग बिजनेस के तहत प्रदेश सरकार बड़े स्तर पर निवेश आकर्षित करने की योजनाओं पर आगे बढ़ रही है। इसका सीधा फायदा प्रदेश को रेवेन्यू और यहां के युवाओं को रोजगार के रुप में होने वाला है। सरकार के इन प्रयासों से विपक्षी दलों को अपने राजनीतिक मुद्दे धूमिल होते दिख रहे हैं।

देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी जयराम सरकार के प्रयासों पर पीठ थपथपा चुके हैं। कोरोना वैक्सीनेशन हो, हवाई अड्डों का विस्तार और नए एयरपोर्ट की योजनाएं, फोरलेन सहित सामरिक मुख्य सड़कों का सुदृढीकरण या किसान और बागवानों के लिए नई योजनाएं हों, हर मोर्चे पर मुख्यमंत्री के प्रयासों को शाबाशी मिल रही है। राष्ट्रपति रामनाथ कोविेंद भी विधानसभा के विशेष सत्र के मंच से इन प्रयासों को हिमाचल में नए आयाम स्थापित होने की दिशा में बेहतरीन कदम करार दे गए हैं। इसी कुंठा ने कांग्रेस की नींद उड़ा रखी है। मुख्यमंत्री से कांग्रेसी इतने भयभीत हैं कि उनके प्रदेश से बाहर जाते ही घबरा कर तथ्यहीन बयानबाजी कर जनता को गुमराह करने में जुट जाते हैं। मुख्यमंत्री के लौटते ही इनका यह अभियान शांत हो जाता है। कांग्रेस जितना भी दुष्प्रचार कर ले, भाजपा के हिमाचल हित के प्रयास इसी तरह रफ्तार पकड़ते रहेंगे।