सरकार के एकतरफा फैसले के खिलाफ भौर गाँव के लोग 1 मार्च को पर्दर्शन में बड्-चढ़ कर भाग लेंगे

137

जन संपर्क अभियान के 5बे दिन आज दिनाक 24 फरबरी, 2021 को बल्ह बचाओ किसान संघर्ष समिति, भौर, गाँव की बैठक श्री गुरिया राम नायक पूर्व प्रधान कि अध्यक्षता में हुई उन्होंने ने कहा कि एक तरफ राज्य सरकार फोर लेन में भूमि अधिग्रहण कानून 2013 को पूर्णता लागू नहीं कर रही है जिसके अनुसार जमीन का 4 गुना मुआबजा, पुनर्वास, पुनर्स्थापना, बाज़ार भाव पर जमीन का मूल्य,जमीन के बदले जमीन,परिवार से एक सदस्य को नौकरी,देने का प्रावधान है और हिमाचल सरकार भूमि अधिग्रहण कानून 2013 को लागू करने से पूरी तरह से मुकर गई है। अब दूसरी तरफ मंडी, (बल्ह) में प्रस्तावित हबाई अड्डा में अधिग्रहण की जाने बाली जमीन को उचित मुआबजा देने की झूठी बात कर रहे हैं और जमीन के रेट को दो श्रेणी में बाँट इतने कम कर दिए है कि हमारी उपजाऊ जमीन कौड़ियो के भाव जायेगी जबकि किसान 3 से 4 लाख प्रति बीघा नकदी फसलों (टमाटर ब सब्जियों) से प्रति वर्ष कमा रहा है I

भौर में अधिकतर आबादी दलित ब अन्य पिछड़ा वर्ग के लोग रहते है और कमाई का एक मात्र जरिया खेती बाड़ी पर निर्भर हे अतः उपजाऊ जमीन को बर्बाद होने से बचाया जाए। सरकार द्वारा किसानों से बात किये बिना एकतरफा फेसले का बिरोध किया गया, सरकार किसानो द्वारा किये जा रहे विरोध को पूरी तरह अनदेखी कर रही है और मांग कि गई कि हबाई अड्डा को गैर उपजाऊ जमीन में बनाया जाये

अध्यक्ष, जोगिन्दर वालिया ने किसानों से अपील करते हुये उन्होंने आह्वान किया सरकार के एकतरफा फैसले के खिलाफ 1 मार्च को सुबह 11 बजे कन्सा चौक से डडोर के पर्दर्शन में बड्-चढ़ कर भाग ले और अपनी एकता का प्रदर्शन करे।

उपरोक्त बैठक में गुरिया राम के इलाबा अध्यक्ष, जोगिन्दर वालिया, इन्दर नायक, रोशन, किशोरी नायक, काकू , अमर सिंह, प्रकाश नायक, राजकुमार कमेटी सदस्य शामिल हुये I