सियासत : बहुत कुछ बोलता मुकेश का प्रदेश स्तरीय दौरा

167

जनता का चेहरा बनने के लिए मुकेश अग्निहोत्री निकले प्रचार में, स्थानीय नेताओं का मिला पूरा समर्थन

शिमला. कांग्रेस के नेता मुकेश अग्निहोत्री ने प्रदेश स्तरीय दौरा का प्रचार अभियान का आगाज कर दिया है। विधानसभा में विपक्ष के नेता के द्वारा शुरु किया गया प्रदेश स्तरीय प्रचार अभियान कांग्रेस की सियासत में बहुत कुछ बोल रहा है। आगामी विधानसभा चुनावों में कांग्रेस का चेहरा कौन होगा, हाईकमान ने अभी तक तय नहीं किया लेकिन बड़े चेहरे के रुप में मुकेश अग्निहोत्री जनता के बीच निकल पड़े हैं। कांग्रेस का चेहरा बनने के लिए पार्टी के सीनियर नेताओं के बीच गृह युद्ध तो चल रहा है लेकिन जनता के चेहरा बनने के लिए अग्निहोत्री ने अपनी सियासी दौड़ शुरु कर दी है। मंडी, मनाली, लाहौल, किन्नौर, भरमौर, चंबा व डलहौजी के दौरों में जिस तरह से स्थानीय नेताओं और काग्रेस कार्यकर्ताओं ने मुकेश अग्निहोत्री का स्वागत किया, जिससे साबित होता है कि इन क्षेत्रों के पार्टी नेताओं और कार्यकर्ताओं ने मुकेश को ही अपना नेता मान लिया है। अग्निहोत्री भी अपनी राजनैतिक कुशलता के साथ अपने संबोधन में सभी नेताओं को मान सम्मान देते हुए सुने जाते हैं। कांग्रेस का नेता कौन होगा, इस बारे में मुकेश अग्निहोत्री बोलते तो कुछ नहीं हैं लेकिन अपने सियासी कार्यक्रमों के माध्यम से बिना बोले ही बहुत कुछ बोल दे रहे हैं। समझने वाले समझ भी रहे हैं और उनके पीछे चलने भी लगे हैं। कांग्रेस का नेता कौन होगा, कौन प्रदेशाध्यक्ष बनेगा, कौन मुख्यमंत्री होगा, इसका निर्णय समय आएगा, तब होगा, अभी कांग्रेस के जीत का लक्ष्य लेकर अग्निहोत्री ने प्रदेश व्यापी अभियान छेड़ दिया है।

कांग्रेस के सीनियर नेताओं के बीच प्रदेशाध्यक्ष बनने से लेकर मुख्यमंत्री का चेहरा बनने के लिए परदे के पीछे गृह युद्ध चल रहा है। इन नेताओं में मुकेश अग्निहोत्री, आशा कुमारी, जीएस बाली, कौल सिंह ठाकुर, रामलाल ठाकुर, सुखबिंदर सिंह सुक्खू, हर्ष वर्धन चौहान के साथ हर्ष महाजन का नाम भी चल रहा है। कांग्रेस सूत्रों के अनुसार हाईकमान प्रदेशाध्यक्ष, चुनाव प्रचार समिति अध्यक्ष, सीएलपी के साथ कार्यकारी अध्यक्ष की नियुक्ति करने पर विचार कर रहा है। पार्टी में कुर्सी पाने के लिए सभी सीनियर नेता दिल्ली दरबार में अपने राजनैतिक आकाओं के माध्यम से लॉबिंग कर रहे हैं। कांग्रेसी नेता यह कहते भी सुने जाते हैं कि हाईकमान जल्द निर्णय ले रहा है। कभी जुलाई में ताजपोशी की तैयारी तो कभी अगस्त में नेताओं की ताजपोशी की तैयारी की चर्चाएं होती हैं और अब सितंबर में बदलाव की चर्चाएं हैं। सभी नेता हाईकमान के निर्णय के बाद अपनी सक्रियता बढ़ाने की रणनीति बना रहे हैं लेकिन मुकेश अग्निहोत्री ने बिना इंतजार किए अपना प्रचार अभियान छेड़ दिया है। मुकेश अग्निहोत्री के अलावा सभी अपने विधानसभा क्षेत्र या जिले तक ही सीमित हैं लेकिन अग्निहोत्री मंडी से लेकर चंबा तक करीब दस विधानसभा का दौरा कर दिया है।

वर्तमान में मुकेश अग्निहोत्री विधानसभा में विधायक दल के नेता हैं। जिसके चलते उन्होंने प्रदेश स्तरीय प्रचार की कमान संभाल ली है। मंडी में युवा कांग्रेस के कार्यक्रम में शिरकत करने के बाद अग्निहोत्री ने मनाली में कार्यकर्ताओं से मुलाकात की। इसके बाद सीधे लाहौल स्फीति विधानसभा क्षेत्र के दौरे पर निकले। लाहौल –स्फीति के दौरे पर दौरान क्षेत्र के पूर्व विधायक रवि ठाकुर के साथ दर्जनों कार्यक्रम किए। कांग्रेस कार्यकर्ताओ के साथ मीटिंग की तो जनता से भी रुबरु हुए। लाहौल में बाढ़ से मची तबाही से पीड़ित लोगों से भी मिले और सरकार को घेरते हुए प्रभावित लोगों को मुआवजा देने की मांग की। मुकेश अग्निहोत्री ने चंबा जिले का दौरा किया। जिसमें भरमौर विधानसभा के तीसा में पूर्व मंत्री भरमौरी और उनके बेटे अमित भरमौरी के साथ बड़ी जनसभा की। चंबा शहर में कांग्रेसी नेता नीरज नैयर ने मुकेश अग्निहोत्री के स्वागत में जनता का बड़ा हुजूम एकत्र किया। वहां लोगों को संबोधित करते हुए मुकेश अग्निहोत्री ने सरकार पर जमकर हमला बोला। इसके बाद पूर्व मंत्री आशा कुमारी के विधानसभा क्षेत्र डलहौजी में भी बड़ी रैली का आयोजन किया गया। चंबा व डलहौजी की रैली में चंबा जिले के सभी नेता ठाकुर सिंह भरमौरी, आशा कुमारी, कुलदीप पठानिया, नीरज नैयर, अमित भरमौरी के साथ चंबा जिले के प्रभारी और कांगड़ा के दिग्गज ओबीसी नेता चंद्र कुमार भी मौजूद रहे। मुकेश अग्निहोत्री के साथ एक मंच पर सभी नेताओं का साथ खड़ा होना भी सियासत में बहुत कुछ बोल रहा है। मुकेश अग्निहोत्री कांग्रेस संगठन और प्रदेश के नेताओं के बीच चल रही सियासत को लेकर किसी विवाद में नहीं फंसते हुए दूरी बनाए रखते हैं। जिन नेताओं के साथ उनके बेहतर संबंध हैं, उन्हीं क्षेत्रों में दौरा कर रहे हैं। इस तरह मुकेश अग्निहोत्री ने 2022 में कांग्रेस पार्टी को जिताने के लिए प्रचार अभियान का आगाज कर दिया है।