सुजानपुर आशा वर्कर की मौत का मामला उठेगा विधानसभा में : राणा

172

हमीरपुर 22 फरवरी
वैक्सीन लगने के बाद पहली मौत पर सरकार तत्काल प्रभाव से गहन जांच करवाए। यह बात राज्य कांग्रेस उपाध्यक्ष एवं विधायक राजेंद्र राणा ने प्रैस ब्यान में कही है। उन्होंने कहा चूंकि इस महिला का संबंध मेरे गृह क्षेत्र से है जिसमें शुरूआति जानकारी यह आई है कि 28 जनवरी को वैक्सीन की पहली डोज लगने के बाद वैक्सीन प्रोटोकाल के तहत इस महिला की कोई सुध नही ली गई है जिसकी इस घोर कोताही की जिम्मेदारी सीधे तौर पर विभाग पर फिक्स हो रही है। उन्होंने कहा आरोप यह भी है की इस महिला की तबीयत 29 जनवरी से ही बिगड़ना शुरू हो गई थी लेकिन वैक्सीन प्रोटोकाल के तहत इस महिला का कांटेक्ट नम्बर विभाग के पास होने के बावजूद इसकी कोई सुध नहीं ली गई है। प्रारम्भिक तौर पर हुई इस चूक के कारण इस कोरोना वारियर महिला को मौत का शिकार होना पड़ा है। जिससे पूरे वैक्सीन अभियान पर ही सवालिया निशान लग गया है। उन्होंने कहा कि यह मामला विधानसभा में उठाया जाएगा और इस महिला आशा वर्कर की मौत की कोताही का जो भी जिम्मेवार है उसकी जवाबदेही फिक्स की जाएगी। राणा ने कहा कि इस प्रकार की कोताही से महामारी के कारण लग रही वैक्सीन पर लोग भरोसा नहीं कर पायेंगे। उन्होंने कहा कि सवाल यह भी उठता है जब 5 फरवरी को आर के एम मैडिकल कालेज हमीरपुर से इस महिला को टांडा मैडिकल कालेज के लिए रैफर किया गया था इस बीच आर के एम मैडिकल कालेज प्रशासन व सीएमओ हमीरपुर ने इस मामले का एतिहातन फालोअप क्यों नहीं लिया। उन्होंने कहा कि यह मामला एक नागरिक की मौत से जुड़ा है जिसकी एहमियत सरकार व स्वास्थ्य विभाग को समझनी चाहिए ताकि भविष्य में ऐसी घटनाओं की पुनावृति न हो।