स्वर्ण जयंती के उपलक्ष्य में ग्रामीण ओलंपिक आयोजित करेगा खेल विभाग, तराशे जाएंगे खिलाड़ी

217

स्वर्ण जयंती के उपलक्ष्य में ग्रामीण ओलंपिक आयोजित करेगा खेल विभाग, तराशे जाएंगे खिलाड़ी : राकेश पठानिया
शिमला. खेल मंत्री राकेश पठानिया ने कहा कि हिमाचल प्रदेश के स्वर्ण जयंती समारोह के उपलक्ष्य में प्रदेश में ग्रामीण ओलंपिक का आयोजित किया जाएगा। जिसके लिए हर पंचायत और स्कूल के स्तर पर खिलाड़ियों का चयन किया जाएगा। प्रदेश के गांव से निकलने वाले बेहतर खिलाड़ियों को जिला ओलंपिक में भाग लेने का अवसर मिलेगा और प्रदेश स्तर तक खिलाड़ियों को अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन करने का अवसर मिलेगा। पठानिया में कहा कि हिमाचल के स्टेट हुड के स्वर्ण जयंती समारोह के उपलक्ष्य में ग्रामीण ओलंपिक का आयोजन वर्ष भर होगा। जिसके लिए विभाग शीघ्र ही एक केलेंडर जारी करेगा, जिसके अनुसार ही पंचायत स्तर से लेकर प्रदेश स्तर तक होने वाले टूर्नामेंट आयोजित किए जाएंगे। ग्रामीण ओलंपिक में वह सभी खेल शामिल किए जाएंगे जो ओलंपिक खेलों में शामिल होते हैं। जिसमें प्रमुख रुप से हिमाचल के ग्रामीण क्षेत्रों में खेले जाने वाले खेलों को प्रमुखता के साथ शामिल किया जाएगा। ग्रामीण ओलंपिक में प्रमुख रुप से कबड्डी, वॉलीबाल, फुटबाल, खो-खो सहित अन्य खेलों को शामिल किया जाएगा। पठानिया ने कहा कि इन खेलों के अलावा प्रमुख स्थानों पर रिवर रॉफ्टिंग का आयोजन भी शामिल होगा, जिसे मनाली में प्रमुख रुप से आयोजित किया जाएगा। इसके साथ ही पौंग डेम सहित अन्य स्थानों में वाटर स्पोर्टस की गतिविधि भी आयोजित की जाएंगी। ग्रामीण ओलंपिक के बेहतर आयोजन के लिए खेल मंत्री ने आज विभाग के अधिकारियों के साथ मीटिंग की और दिशा निर्देश जारी किए कि वह ग्रामीण ओलंपिक के आयोजन के लिए पूरा प्लान तैयार करें और बजट का अनुमान लगातार शीघ्र रिपोर्ट प्रस्तुत करें। खेल मंत्री ने कहा कि ग्रामीण ओलंपिक आयोजित करने का मकसद प्रदेश के गांव-गांव में छिपी बेहतर खेल प्रतिभा को उभारना है। ग्रामीण ओलंपिक में बेहतर प्रदर्शन करने वाली खेल प्रतिभाओं को विभाग की ओर से बेहतर प्रशिक्षण का प्रावधान किया जाएगा जिससे वह राष्ट्रीय और अंतराष्ट्रीय प्रतियोगिताओं में भाग लेकर प्रदेश का नाम रोशन करें और खेल के क्षेत्र में अपना कैरिय बनाएं।