अनुराग ने कटघरे में खड़ी की सरकार, सत्ता पक्षा व भाजपा ने साधी चुप्पी, कांग्रेसी नेता हुए आक्रामक

144

शिमला. सेंट्रल यूनिवर्सिटी के नाम तीन साल में जमीन ट्रांसफर न होने के मुद्दे पर केंद्रीय वित्त राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर ने सरकार को कटघरे में खड़ा कर दिया है। दो दिन पहले कांगड़ा जिला के जसवां विधानसभा क्षेत्र में आयोजित जनसभा में मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर व अनुराग ठाकुर एक ही मंच पर थे। अनुराग ने मंच से ही अपने संबोधन के दौरान मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर से कई सवाल दाग दिए। वहीं नसीहत देते हुए भी कहा कि आप अफसरों को काम करने की आदत डालें और आदेश दें कि काम समय पर हो। अनुराग ने अपने सवालों से सरकार को कटघरे में खड़ा कर दिया और ये साबित करने का प्रयास किया कि जयराम सरकार में अफसरशाही समय पर काम नहीं कर रही है। मंच से ही मुख्यमंत्री ने भी अनुराग के सवालों का जवाब दिया जिससे प्रदेश की सियासत में गरमाहट आ गई। इस मामले में अभी तक सत्ता पक्ष और भाजपा के नेता तो मौन साधे हुए हैं। कल दिनभर मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर सीयू मामले में कुछ कहने से बचते रहे तो किसी मंत्री ने भी अभी तक कुछ नहीं कहा है। वहीं भाजपा के प्रदेशाध्यक्ष सहित किसी भी नेता ने सीयू मामले में कोई बयान नहीं दिया। जबकि प्रदेश में और कोई सियासी हलचल होती है तो भाजपा की ओर से तत्काल प्रतिक्रिया होती है। मामला अनुराग ठाकुर और जयराम ठाकुर से जुड़ा हैं जिससे कोई भी भाजपा नेता बोलने की हिम्मत भी नहीं जुटा पा रहा है कि आखिर किसके पक्ष में और किसके विरोध में बोला जाए। इस कारण सब भलाई इसी में समझ रहे हैं कि इस मामले में मौन धारण करना ही बेहतर रास्ता है। लेकिन विपक्ष के नेता सरकार पर हमलावर हो गए हैं। विपक्ष के नेता मुकेश अग्निहोत्री, कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष कुलदीप राठौर, पूर्व अध्यक्ष सुखविंदर सिंह सुक्खू ने सरकार पर निशाना साधा और भाजपा के विकास माडल पर सवाल उठाए।
विपक्ष के नेता मुकेश अग्निहोत्री ने सीधे मुख्यमंत्री पर हमला करते हुए कहा कि केंद्रीय राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर ने ही अब सरकार के विकास की पोल खोल दी है। अनुराग ने सीधे कहा कि केंद्र सरकार से सभी स्वीकृति मिलने के बाद भी राज्य सरकार तीन साल में सेंट्रल यूनिवर्सिटी के नाम जमीन ट्रांसफर नहीं कर सकी है। अब मुख्यमंत्री जवाब दें कि सरकार में कैसा और कहां विकास हो रहा है। वहीं कुलदीप राठौर ने कहा कि अब भाजपा के नेताओं की लड़ाई सबके सामने आ चुकी है। केंद्रीय राज्य मंत्री ने ही सरकार के अधिकारियों के काम न करने की मुहर लगा दी है। जिससे जनता के सामने सरकार की सच्चाई सामने आ गई कि अफसर काम नहीं कर रही है। मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर केंद्र सरकार के विकास की उपलब्धियों को गिना रहे हैं तो अनुराग ठाकुर कह रहे हैं कि केंद्र की योजनाओं पर प्रदेश के अधिकारी कार्य ही नहीं कर रहे हैं और किसी को कुछ पता नहीं है। जिससे जनता के सामने सरकार की सच्चाई आ गई है। वहीं सुक्खू ने सरकार पर हमला करते हुए कहा कि प्रदेश में कई गुटों में बंटी भाजपा की सच्चाई जनता के समाने हैं। भाजपा के एक गुट की हालत विपक्ष के नेताओं की तरह हो गई है। जब सरकार में भाजपा के सांसद और केंद्रीय मंत्री की ही सुनवाई नहीं हो पा रही है तो आम जनता की सुनवाई कहां से होगी। सुक्खू ने कहा कि सरकार विकास कराने में पूरी तरह नाकाम है और अब जनता का सरकार से मोह भंग हो गया है। इस तरह आरोपों से घिरी सरकार पर विपक्ष ने आक्रामण तेज कर दिया है।