अनुराग ठाकुर ने हमीरपुर में युवाओं के लिए किया वोडाफ़ोन आइडिया फाउन्डेशन के कौशल प्रशिक्षण केन्द्र का उद्घाटन

108

वित्तीय साक्षरता को बढ़ावा देने तथा भारत की डिजिटल साक्षरता को और आगे बढ़ाने के लिए ‘जादू गिन्नी कामोबाइल वैन को हरी झण्डी दिखाकर रवाना किया

हमीरपुर21, जून, 2022,  भारत दुनिया की सबसे तेज़ी से विकसित होती अर्थव्यवस्था के मार्ग पर अग्रसर है और युवा अर्थव्यवस्था के विकास की इस कहानी के नायक हैं। इन प्रतिभाशाली युवाओं को कौशल प्रदान करने तथा भविष्य के लिए तैयार करने के उद्देश्य से वी की सीएसआर शाखा वोडाफ़ोन आइडिया फाउन्डेशन ने आज हमीरपुर में कौशल प्रशिक्षण केन्द्र का उद्घाटन किया। यह केन्द्र अपने आस-पास के क्षेत्रों में सामाजिक एवं आर्थिक रूप से वंचित युवाओं को रोज़गार उन्मुख कौशल प्रशिक्षण प्रदान करेगा। इस केन्द्र का उद्घाटन भारत सरकार में माननीय सूचना एवं प्रसारण और खेल एवं युवा मामलों के मंत्री श्री अनुराग ठाकुर ने किया, जिन्होंने इस प्रोग्राम के कुछ शुरूआती ‘ग्रेजुएट्स’को प्रमाणपत्र देकर सम्मानित भी किया। इस मौके पर पी. बालाजी, चीफ़ रेग्युलेटरी एण्ड कॉर्पोरेट अफ़ेयर्स ऑफिसर, वीआईएल, डायरेक्टर, वोडाफ़ोन आइडिया फाउन्डेशन भी मौजूद थे।

इस अवसर पर केन्द्रीय मंत्री श्री अनुराग ठाकुर ने भारत सरकार के डिजिटल साक्षरता अभियान को एक कदम और आगे बढ़ाते हुए वी फाउन्डेशन की ‘जादू गिन्नी का’ मोबाइल वैन को भी हरी झण्डी दिखाकर रवाना किया।

 इस मौके पर भारत सरकार में माननीय सूचना एवं प्रसारण और खेल एवं युवा मामलों के मंत्री श्री अनुराग ठाकुर ने कहा ‘‘ऐसे समय में जब हम एक नव भारत के निर्माण की दिशा में बढ़ रहे हैं, युवाओं को कुशल कार्यबल में शामिल होने के लिए तैयार करना तथा उनके आर्थिक एवं व्यक्तिगत सशक्तीकरण को सुनिश्चित करना बेहद महत्वपूर्ण है। हमें यह सुनिश्चित करना होगा कि युवाओं को विकास के पर्याप्त अवसर मिलें। पिछले आठ सालों में हमने युवाओं को कौशल प्रदान करने, वित्तीय ऋण उपलब्ध कराने के लिए कई प्रयास किए हैं ताकि भारत को कौशल की दृष्टि से दुनिया की राजधानी बनाने की बुनियाद रखी जा सके। हमारी यह पहल इसी दिशा में एक और कदम है। मुझे यह देखकर अच्छा लगता है कि वोडाफ़ोन आइडिया जैसी विश्वस्तरीय बहु-राष्ट्रीय कंपनियां युवाओं को कौशल प्रशिक्षण प्रदान करने तथा स्थानीय प्रतिभा को सशक्त बनाने के लिए आगे आ रही हैं। उन्होंने कहा, ‘‘मुझे खुशी है कि पीएमजीडीआईएसएच के तत्तावधान में वोडाफ़ोन आइडिया फाउन्डेशन की मोबाइल वैन क्षेत्र के समुदायों को वित्तीय एवं डिजिटल साक्षरता पर प्रशिक्षण देगी, जो सभी के लिए महत्वपूर्ण कौशल है। मुझे उम्मीद है कि आने वाले समय में कई और कॉर्पोरेट इस सेक्टर में कौशल पहलों के लिए आगे आएंगे।’’

संभव फाउडन्उेशन के साथ साझेदारी में समीरपुर में स्थापित किए गए वोडाफ़ोन आइडिया के कौशल प्रशिक्षण केन्द्र में केन्द्र में एक रीटेल लैब और कम्प्यूटर्स हैं, जिनके माध्यम से छात्रों को सैद्धान्तिक ज्ञान का व्यवहारिक प्रशिक्षण दिया जाएगा। यह केन्द्र स्थानीय युवाओं को विभिन्न विषयों जैसे आईटी, आईटीईएस और रीटेल में रोज़गार उन्मुख कौशल प्रशिक्षण प्रदान करेगा। इस पाठ्यक्रम के तहत छात्रों को प्रत्यक्ष काउन्सलिंग, फोर्मेटिव और समेटिव असेसमेन्ट के अवसर भी मिलेंगे।

भारतीय युवाओं के लिए वोडाफ़ोन आइडिया की प्रतिबद्धता के बारे में बात करते हुए पी. बालाजी, चीफ़ रेग्युलेटरी एण्ड कॉर्पोरेट अफ़ेयर्स ऑफिसर , वीआईएल, डायरेक्टर, वोडाफ़ोन आइडिया फाउन्डेशन ने कहा, ‘‘भारत में दुनिया की सबसे अधिक युवा आबादी है। नवभारत के दृष्टिकोण को साकार करने के लिए ज़रूरी है कि इन युवाओं को आज के दौर के अनुसार आधुनिक कौशल, प्रशिक्षण एवं स्थायी रोज़गार के अवसर दिए जाएं। हमारी कौशल प्रशिक्षण परियोजना एक ऐसे मॉडल का उदाहरण है जो कौशल से रोज़गार तक युवाओं की हर ज़रूरत को पूरा करती है, उन्हें कम लागत पर आधुनिक और आसान समाधान सुलभ कराती है। इसी तरह देश में वित्तीय साक्षरता और वित्तीय समावेशन को बढ़ावा देने के लिए हमारी पहल ‘जादू गिन्नी का’ व्यापक वित्तीय साक्षरता विकास प्रोग्राम को सुनिश्चित करती है। हम केन्द्रीय मंत्री श्री अनुराग ठाकुर के प्रति आभारी हैं, जिन्होंने इस परियोजना के लिए हमें पूरा मार्गदर्शन दिया है। साथ ही हम ज़िला अधिकारियों से मिले सहयोग के लिए उनका भी धन्यवाद करते हैं।’’