संजौली के निवासियों से अपील-रमेश ठाकुर

56
शिमला:नशा आज के समय में बहुत बड़ी बुराई है, जो युवा पीढ़ी को दिग्भ्रमित कर रही है। बेशक शिमला को स्मोक फ्री घोषित करने के बाद आज सिगरेट, बीड़ी आदि का अब खुलेआम इस्तेमाल नहीं होता मगर सिथेटिक ड्रग्स, चिट्टा आदि के मामले पुलिस आए दिन पकड़ती रहती है। राजधानी शिमला का संजौली उपनगर भी इस तरह के नशे की अछूता नहीं है। युवाओं को नशे से खोखला होने से बचाने के लिए हमें इस संबंध में एक जन अभियान चलाने की जरूरत है।
इस जनांदोलन के तहत हम पहले चरण में उपनगर संजौली के हर वार्ड में जाकर एक शांतिपूर्ण जागरूकता यात्रा करेंगे। इसकी रूपरेखा जल्दी तय की जाएगी। इसके लिए हमने संजौली उपनगर आधारित एक स्वयंसेवी संस्था गठित करने का निर्णय लिया है। जल्दी ही इसके तमाम पदाधिकारियों की भी घोषणा की जाएगी। इस अभियान से जुड़ने के लिए जो लोग इच्छुक हों, वे मुझे मेरे व्हाट्सऐप नंबर 9805326000 पर मैसेज करें। इस महा अभियान से बच्चों, युवाओं, बजुर्गों, महिला बहनों और तमाम लोगों को जोड़ने का प्रयास होगा।