मुख्यमंत्री का गैंग रेप पीड़िता के घर न जाना हद दर्जे की संवेदनहीनता : मुकेश अग्निहोत्री

1

प्रतिपक्ष के नेता मुकेश अग्निहोत्री ने कहा है कि मुख्यमंत्री श्री जयराम ठाकुर के हरोली दौरे के दौरान गैंग रेप से पीड़ित परिवार के घर ना जाने से भाजपा के बेटियों से जुड़े नारों की पोल खोल दी है। उन्होंने मुख्यमंत्री के इस व्यबाहर को हद दर्जे की सवेंदनहीनता करार दिया। अग्निहोत्री ने जानना चाहा कि आख़िर किस के दवाब में मुख्यमंत्री परिवार या बेटी से नही मिले जबकि पोलीया में जहां मुख्यमंत्री को लेकर ड्रग पार्क की ज़मीन का अबलोकन करवाया उससे चंद गज की दूरी पर पीड़ित परिवार रहता है। उन्होंने कहा कि यह तो सारा इलाक़ा जानता है कि दुष्कर्म में शामिल किस के नज़दीकी हैं और किस का संरक्षण उन्हें हासिल है लेकिन जघन्य अपराध का शिकार हुई बेटी से जयराम मिलकर जाते तो समाज में सही संदेश जाता।अग्निहोत्री ने कहा कि एक तरफ़ तो बेटी बचाओ , और बेटी है अनमोल के बड़े बड़े नारे दिए जाते हैं और दूसरी तरफ़ दुष्कर्म का शिकार बनी बेटी के आँसू तक पहुँचने की चेष्टा तक नही होती जबकि इस मामले में तीन लोग हिरासत में है।उन्होंने कहा कि इस परिवार को विशेष तौर पर मिलने आना तो एक तरफ़, सामान्य दौरे के दौरान भी मिलने की ज़हमत नही उठाई गई। मुकेश अग्निहोत्री ने कहा कि इस से पहले भाजपा सरकार का कोई मंत्री भी पीड़ित परिवार को मिलने नही आया। उन्होंने दलील दी कि प्रदेश में क़ानून व्यस्था का भट्ठा बेठ गया है। रोज़ाना क़त्ल बलात्कार की घटनायें घटित हो रही हैं। प्रदेश में गुड़िया प्रकरण को भुना कर सत्ता में आने वाले लोगों ने गुड़िया को भी न्याय नही दिया, जबकि हरोली की बेटी को सरकार ने अपनी बेटी नही समझा।