नगर निगम धर्मशाला में हुए भ्रष्टाचार की होगी जांच: पठानिया

125

– नगर निगम धर्मशाला के विभिन्न वार्डों में चलाया जन संपर्क अभियान

धर्मशाला। नगर निगम धर्मशाला में कांग्रेस कार्यकाल में हुए भ्रष्टाचारों की जांच होगी। इसमें संलिप्त कोई भी नेता या कर्मचारी बख्शा नहीं जाएगा। रविवार को नगर निगम चुनाव को लेकर भारतीय जनता पार्टी के जनसंपर्क अभियान के तहत वार्ड नंबर – 13 दाड़ी, वार्ड नंबर-14 कंडी, वार्ड नंबर-12 बड़ोल, वार्ड नंबर-10 श्यामनगर, वार्ड नंबर-08 खेल परिसर, वार्ड नंबर-09 सकोह, वार्ड नंबर-07 डिपू बाजार और वार्ड नंबर-11 रामनगर में जन सभा का आयोजन किया गया।

जनसभा को संबोधित करते हुए वन, युवा सेवा एवं खेल मंत्री श्री राकेश पठानिया ने कहा कि नगर निगम धर्मशाला में भाजपा की जीत के तुरंत बाद कांग्रेस कार्यकाल में हुए भ्रष्टाचारों की जांच होगी। विधायक श्री विशाल नैहरिया ने कहा कि धर्मशाला को स्मार्ट सिटी का दर्जा केंद्र सरकार से मिला है, जबकि इसका श्रेय कांग्रेस लेती रही है। यदि कांग्रेस असल में धर्मशाला की हितेषी होती, तो स्मार्ट सिटी के रूप में धर्मशाला को विकसित करने के लिए मिले बजट को बैंक में ही नहीं रहने देती। जब धर्मशाला को स्मार्ट सिटी घोषित किया गया था, तो प्रदेश की तत्कालीन कांग्रेस सरकार ने अपने हिस्से का बजट जमा नहीं करवाया। इसी का नतीजा था कि स्मार्ट सिटी का पैसा खर्च नहीं हो पा रहा था। प्रदेश में भाजपा सरकार आते ही स्मार्ट सिटी धर्मशाला के लिए अपने हिस्से का बजट जारी कर इसका कार्य शुरू किया गया। इस मौके पर केसीसी बैंक चेयरमैन श्री राजीव भारद्वाज, जिला परिषद अध्यक्ष श्री रमेश बराड़, पूर्व विधायक श्री मनोहर धीमान, पूर्व विधायक श्री संजय चौधरी, श्री कुलदीप शर्मा, श्री भवानी पठानिया, श्री वीरेंद्र चौधरी, श्री कमल शर्मा, श्री हुकुम सिंह बैंस आदि मौजूद रहे।