नकली दवा बनाकर लोगों की जान से खिलावाड़ करने वालों के खिलाफ ड्रग कंट्रोलर नवनीत मरवाह की बड़ी कार्रवाई, छापेमारी कर पकड़ी लाखों की नकली दवाइयां

बद्दी. नकली दवाइयां बनाकर लोगों की जान से खिलावाड़ करने वालों के खिलाफ ड्र्रग कंट्रोलर नवनीत मरवाह ने बड़ी कार्रवाई की है। ड्रग विभाग की टीम और पुलिस के साथ ड्रग कंट्रोलर नवनीत मरवाह ने लाखों रुपए की नकली दवाइयां बनाने वालों को पकड़ा है। यह दवा माफिया नामी कंपनियों के नाम की नकली दवाइयां बनाकर बाजार में बेंचते थे। ड्रग कंट्रोल विभाग को मिली सूचना की अनुसार बद्दी में नाका लगाकर एक गाड़ी को पकड़ा जिसमें नकली दवाइयां मिलीं। नकली दवाइयां ले जा रहे आरोपियों की पूछताछ के बाद एक गोदाम और नकली दवाइयों को बनाने वाली फैक्ट्री पर भी छापेमारी की गई है। जहां पर लाखों रुपए की नकली दवाइयां बरामद की है। सूचना के अनुसार यह दवाइयां बद्दी में बनाकर उत्तरप्रदेश में बेंची जा रही थीं। नकली दवाइयां बनाने वालों के खिलाफ ड्रग कंट्रोल विभाग की यह बड़ी कार्रवाई है। ड्रग कंट्रोलर नवनीत मरवाह ने बताया कि विभाग ने तीन से अधिक ड्रग इंस्पेक्टर उद्योगपति और जनता के बीच सूचनाओं को एकत्र करने के लिए लगाए गए हैं। उनकी सूचना के अनुसार ही यह बड़ी सफलता विभाग को मिली है। ड्रग कंट्रोल विभाग लगातार नकली दवाइयां बनाने वालों के खिलाफ कार्रवाई कर रहा है। अभी अरोपियों से पूछताछ के बाद मिली सूचना के अनुसार ही आगामी कार्रवाई की जा रही है।

एशिया के सबसे बड़े फार्मा हब बद्दी में यूएसबी, सिपला और इफका लैब जैसी नामी कंपनियों के नाम से तैयार की गईं नकली दवाओं का जखीरा पकड़ा गया है। इनमें कोलेस्ट्रॉल कम करने की रोजोडे-10, गले में एलर्जी की मांटेयर-10 और दर्द निवारक जीरोडोल जैसी दवाएं शामिल हैं। नकली दवाएं बद्दी में बनाई जाती थीं जबकि उत्तर प्रदेश (यूपी) के आगरा में इनकी बिक्री की जाती थी।

नकली दवाइयां बनाकर बेंचने के आरोप में  मुख्य सरगना समेत तीन आरोपियों को हिरासत में लिया गया है। आरोपियों की निशानदेही पर एक गोदाम में छापेमारी की गई जहां से लाखों रुपये की नकली दवाएं बरामद की गई हैं। अब पता लगाया जा रहा है कि यह गिरोह कितने समय से इन दवाओं को बद्दी में कहां तैयार करता था और आगरा के अलावा किन-किन राज्यों में इनकी बिक्री करता था।

राज्य दवा नियंत्रक प्राधिकरण के अधिकारियों ने मंगलवार सुबह बद्दी बैरियर पर यूपी नंबर की क्रेटा कार को पकड़ा। इस कार में नकली दवाइयां ले जाई जा रही थीं। आरोपियों की निशानदेही के बाद बरोटीवाला मार्ग पर सिक्का होटल के समीप एक गोदाम से भी नकली दवाएं कब्जे में ली गई हैं। मुख्य आरोपी की पहचान मोहित बंसल, निवासी आगरा के रूप में हुई है। पकड़े गए आरोपियों से कड़ी पूछताछ जारी है। अभी तक की पूछताछ में पता चला है कि आरोपियों का आगरा में मेडिकल स्टोर है। यहां पर इन दवाओं को बेचा जाता था।

राज्य दवा नियंत्रक नवनीत मरवाह ने कहा कि यूपी नंबर की गाड़ी से नकली दवाएं पकड़ने के बाद एक गोदाम पर भी दबिश दी। वहां भी लाखों रुपये की दवाएं बरामद की गई हैं। पकड़ी गई दवाओं की गिनती करवाई जा रही है। तीनों आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज करवाया जाएगा। इन दवाओं को यह गिरोह बद्दी में कहां तैयार करता था, इस बारे में अभी छानबीन जारी है।