गडकरी सपने दिखाते हैं, बेचते हैं पर उन्हें पूरा नहीं करते : सुक्खू

135

-प्रदेश में केंद्रीय मंत्री की फोरलेन, राष्ट्रीय राजमार्ग निर्माण की घोषणाएं कागजों में ही, धरातल पर नहीं उतरीं

-चुनावों से पहले जनता को फिर सपने दिखाने शुरू किए, बताएं पिछले चुनाव से पूर्व घोषित 69 एनएच कहां

शिमला। 

कांग्रेस विधायक व पूर्व प्रदेशाध्यक्ष सुखविंद्र सिंह सुक्खू ने केंद्रीय भूतल परिवहन मंत्री नितिन गडकरी को निशाने पर लिया है। उन्होंने कहा कि गडकरी सपने दिखाते हैं, बेचते हैं पर उन्हें पूरा नहीं करते। हिमाचल प्रदेश में फोरलेन, राष्ट्रीय राजमार्गों के निर्माण की उनकी घोषणाएं कागजों में ही रहती हैं, धरातल पर नहीं उतरतीं। 

कांग्रेस विधायक ने कहा कि जब भी प्रदेश में चुनाव नजदीक होते हैं, गडकरी हिमाचल आकर फोरलेन, राष्ट्रीय राजमार्गों के बड़े-बड़े सपने दिखाने शुरू कर देते हैं। पिछले विधानसभा चुनाव से पहले भी गडकरी ने हिमाचल प्रदेश के लिए 69 फोरलेन-राष्ट्रीय राजमार्गों की घोषणा की थी, वह आज तक कागजों में ही हैं। एक भी धरातल पर साकार नहीं हुआ। गडकरी की सारी घोषणाएं जुमला ही साबित हुईं। पिछले राष्ट्रीय राजमार्गों में से अधिकांश के लिए एक इंच जमीन भी अधिग्रहित नहीं हुई, काम शुरू होना तो दूर है। कांगड़ा-मटौर-शिमला, पठानकोट-जोगिंद्रनगर-मंडी राष्ट्रीय राजमार्ग इसके बड़े उदाहरण है, छह साल पहले इन दोनों का शिलान्यास गडकरी ने ही किया था। इन दोनों फोरलेन को लेकर आज तक बिल्कुल प्रगति नहीं हुई। इससे अंदाजा लगाया जा सकता है कि ये सिर्फ घोषणाएं ही हैं।

अब प्रदेश में अगले साल विधानसभा चुनाव हैं तो गडकरी फिर घोषणाओं का पिटारा लेकर पहुंच गए। 6155 करोड़ से अधिक की सड़क परियोजनाओं का लोकार्पण व शिलान्यास कर दिया। अनेक ऐसे राष्ट्रीय राजमार्गों का भी लोकार्पण कर दिया जो जमीन पर साकार ही नहीं हुए हैं। सुक्खू ने कहा कि गडकरी ने तो भाजपा के वरिष्ठ नेता शांता कुमार तक को राष्ट्रीय राजमार्ग का झूठा सपना दिखा दिया। नूरपुर-मंडी फोरलेन अभी तक कागजों में ही है। जब केंद्र सरकार फोरलेन व राष्ट्रीय राजमार्ग निर्माण का पूरा खर्च उठाने को ही तैयार नहीं है तो फिर झूठी घोषणाएं क्यों की जा रही हैं। भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण के पास एनएच, फोरलेन निर्माण के लिए पैसा नहीं है, प्रदेश सरकार की माली हालत दयनीय है, फिर लाखों-करोड़ों रुपये की सड़क परियोजनाएं सिरे कैसे चढ़ेंगी, बजट कहां से आएगा, क्या केंद्र सरकार पूरी लागत राशि वहन करेगी। केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी को घोषणाएं करने के साथ ही इसकी भी जानकारी जनता को देनी चाहिए थी। सुक्खू ने कहा कि भाजपा सरकार जनता को गुमराह करने की बजाए धरातल पर काम करना शुरू करे।