मुख्यमंत्री जयराम के नेतृत्व में भाजपा की लगातार जीत से बौखलाए विरोधी, नगर निगम चुनाव की जीत रोकने के लिए कर रहे षड़यंत्र

366

शिमला. मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर अपने सादगी भरे अंदाज और ईमानदार छवि के कारण जनता के बीच लोकप्रियता हासिल करने में सफल हुए। जिसका ही परिणाम है कि जयराम ठाकुर के मुख्यमंत्री की कुर्सी पर बैठने के बाद प्रदेश में हुए सभी चुनावों में भाजपा ने विजय पताका लहराई है। प्रदेश में हुए लोकसभा चुनाव में भाजपा को रिकॉर्ड जीत मिली। इसके बाद धर्मशाला और पच्छाद में हुए उपचुनाव में भी भाजपा जीती। अभी हाल ही में हुए पंचायती राज और नगर निकाय चुनाव में भाजपा समर्थित प्रत्याशियों को भारी जीत मिली। जयराम ठाकुर के नेतृत्व में पार्टी को मिलती लगातार जीत से नेताओं और कार्यकर्ताओं में भारी आत्मविश्वास पैदा हुआ। जिससे सरकार ने तीन नए नगर निगम बनाए और निगम चुनाव पार्टी सिंबल पर कराने का निर्णय लिया। प्रदेश की जनता के बीच जयराम ठाकुर की बढ़ती लोकप्रियता के कारण भाजपा को मिलती जीत से उनके सियासी विरोधियों की बौखलाहट नजर आने लगी है। जिससे अब वह जयराम सरकार की छवि को खराब करने के लिए षड़यंत्र रच रहे हैं। जिससे प्रदेश की चार नगर निगमों के चुनाव में भाजपा के विजय रथ को रोका जा सके।
मंडी जिले की सराज विधानसभा से विधायक जयराम ठाकुर जब मुख्यमंत्री की कुर्सी पर विराजमान हुए तो उन्हें सरकार के साथ संगठन का भी लंबा अनुभव था। जयराम ठाकुर पूर्व में भाजपा की सरकार में मंत्री रहे हैं जिससे उन्हें सरकार का भी अनुभव मिला। सराज से लगातार पांचवी बार विधायक बनने के कारण उन्हें विधानसभा का भी लंबा अनुभव मिला। इसके साथ ही जयराम ठाकुर को संगठन का भी लंबा अनुभव रहा है। वह भाजपा के प्रदेशाध्यक्ष भी रहे जिससे संगठन का चलाने की अनुभव भी काम आया। इसके साथ संगठन में काम करते हुए जम्मू कश्मीर में भी काम किया। सत्ता और संगठन के अनुभव के कारण जयराम ठाकुर मुख्यमंत्री बनने के बाद सत्ता के साथ संगठन को मिलाकर बेहतर काम किया। जयराम ठाकुर ने सरकार बनने के बाद जनता से सीधे संवाद करने का निर्णय लिया। जिसके लिए मुख्यमंत्री कार्यालय और आवास में संवाद कक्ष स्थापित किए और जनता के लिए हर वक्त मिलने का सिलसिला चालू किया। इसके साथ ही जनता की समस्याओं को उनके घर द्वार पर जाकर हल करने के लिए जनमंच कार्यक्रम शुरु किया। जनमंच कार्यक्रम के माध्यम से सरकार के मंत्री हर विधानसभा क्षेत्र में जाकर जनता की समस्याओं को हल करने लगे। इसी के साथ मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने जनता की समस्याओं का शीघ्र समाधान करने के लिए मुख्यमंत्री हेल्पलाइन की शुरुआत कर 1100 नंबर पर डायल कर एक फोन में समस्याओं के समाधान का साधन दिया। जनता से सीधे संवाद के कारण मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने जनता के बीच लोकप्रियता हासिल करने में सफल रहे। मुख्यमंत्री की इसी लोकप्रियता का परिणाम रहा कि जयराम ठाकुर के नेतृत्व में चल रही सरकार के कारण भाजपा ने प्रदेश में हुए चुनाव में विजय पताका लहराई। प्रदेश में हुए लोकसभा चुनाव में भाजपा ने चारों लोकसभा सीट पर रिकॉड मतों से जीत दर्ज की। कांगड़ा, हमीरपुर, मंडी और शिमला संसदीय क्षेत्र से भाजपा प्रत्याशी 3 से 4 लाख वोटों से रिकॉर्ड जीत दर्ज करने में सफल हुए। इसके बाद प्रदेश मे धर्मशाला और पच्छाद के हुए उपचुनाव में भाजपा ने नए चेहरों को मैदान में उतारा और दोनों उपचुनाव में जीत दर्ज की। इसके बाद हाल ही में हुए नगर निकाय और पंचायती राज संस्थाओं के चुनाव में भाजपा ने पूरे प्रदेश में भारी जीत दर्ज की। प्रदेश के अधिकांश जिला परिषद, नगर परिषद, नगर पंचायत में भाजपा समर्थित अध्यक्ष बने। जिससे हर चुनाव में विजय के साथ जयराम ठाकुर की लोकप्रियता लगातार बढ़ी और वह लोगों के दिलों में राज करने लगे। जयराम ठाकुर की बढ़ती लोकप्रियता के कारण पार्टी के अंदर ही उनके राजनैतिक विरोध बौखला गए। जिससे अब वह जयराम ठाकुर की छवि का खराब करने का षड़यंत्र रच रहे हैं। अब प्रदेश में धर्मशाला, पालमपुर, मंडी और सोलन नगर निगम के चुनाव हो रहे हैं। जिससे जयराम ठाकुर के नेतृत्व में भाजपा के विजय रथ को रोकने के लिए उनके विरोध परदे के पीछे रहकर षड़यंत्र रच रहे हैं।
देश के साथ प्रदेश में भयंकर महामारी कोरोना ने दस्तक दी। जिससे लॉकडाउन लगने से अर्थव्यवस्था पर बहुत बुरा असर पड़ा लेकिन इस संकट के दौर में भी जयराम ठाकुर ने अपनी प्रबंधन क्षमता का परिचय देते हुए प्रदेश को संकट से उभारने के लिए बेहतर कार्य किया। कोरोना काल में भी विकास कार्य को रुकने नहीं दिया और बर्चुअल माध्यम से विकास कार्यों के शिलान्यास और उद्घाटन होते रहे हैं। प्रदेश के विकास के लिए जयराम ठाकुर ने केंद्र सरकार के साथ भी बेहतर समन्वय बनाए रखा। शिक्षा, स्वास्थ्य, सड़क, रेल और औद्योगिक क्षेत्र के विकास के लिए लगातार केंद्र सरकार में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मंत्रियों से दिल्ली जाकर मिलते रहे और प्रदेश के विकास के लिए केंद्र की सौगात लाते रहे। मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर के लगातार प्रयासों से प्रदेश में विकास की गति तेज रही। यही कारण है कि जयराम ठाकुर जनता से किए गए हर वायदे को पूरा करने में सफल हो रहे हैं और उन्हें जनता का भरपूर समर्थन मिल रहा है। जिससे उम्मीद है कि जयराम ठाकुर के नेतृत्व में प्रदेश में भाजपा का विजय रथ रुकने वाला नहीं है। भाजपा नगर निगम चुनाव में जीत दर्ज करने के लिए मैदान में उतर चुकी है। इसके साथ ही मिशन रिपीट 2022 को भी कामयाब करने के लिए पार्टी का हर कार्यकर्ता जमीन स्तर पर काम कर रहा है। जिससे लगता है कि जयराम ठाकुर के नेतृत्व में भाजपा मिशन रिपीट कर प्रदेश में राजनैतिक इतिहास लिखने को तैयार है।