राजीव शुक्ला मंच से बोले : मेरा शेर दहाड़ रहा है, अंदर भी और बाहर भी, मुकेश के इतना संदेश काफी

505

संदीप उपाध्याय

शिमला. मंडी में किसान बिल के विरोध में कांग्रेस की रैली कांग्रेसी नेताओं के बीच छिड़ी कुर्सी की जंग सामने आ गई। प्रदेश प्रभारी राजीव शुक्ला के समक्ष कांग्रेसी आगे की कुर्सी पर बैठने के लिए भिड़ गए। जो आगे बैठे थे वो शांत थे, और पीछे की कुर्सी में बैठने वाले कुर्सी आगे बढ़ा रहे थे। आगे की कुर्सी में बैठने की होड़ में कद तो बढ़ा नहीं बल्कि प्रभारी के सामने नंबर गेम में पिछड़ गए। यह बात प्रभारी राजीव शुक्ला ने खुद कहकर चेताया कि जो अनुशासन में नहीं रहेगा, उसके नंबर कम हो जाएंगे। यह सीधा संदेश उन नेताओं के लिए था जो कुर्सी में आगे बैठना चाहते थे। इसी मंच से राजीव शुक्ला ने कुर्सी पर आगे बैठे विधानसभा में विपक्ष के नेता मुकेश अग्निहोत्री के नंबर बढ़ा दिए। मंच से ही राजीव शुक्ला बोले कि हमारा शेर दहाड़ रहा है, अंदर भी और बाहर भी। इस बात के माध्यम से प्रभारी सीधे मुकेश अग्निहोत्री के द्वारा सदन में और सदन के बाहर विपक्ष की भूमिका निभाने में सफलता का प्रमाण पत्र दे गए। राजीव शुक्ला की यही बात मुकेश अग्निहोत्री की आगे की लड़ाई के लिए काफी है। शुक्ला ने यह तो मान ही लिया कि सरकार के खिलाफ लड़ाई लड़ने में मुकेश अग्निहोत्री बेहतर भूमिका निभा रहे हैं। वह विधानसभा के सदन में भी सरकार को घेरने में कामयाब हैं तो सदन के बाहर में भी सरकार के खिलाफ हमला करने में पीछे नहीं रहते हैं।

कांग्रेस के दिग्गज नेता पंडित सुखराम के पोते आश्रय शर्मा के द्वारा सजाए गए मंडी के मंच में कांग्रेस के सभी नेताओं ने प्रभारी राजीव शुक्ला के सामने शक्ति प्रदर्शन का प्रयास किया। राजीव शुक्ला के प्रभारी बनने के बाद यह पहला ही सरकार विरोधी आंदोलन सड़कों पर शुरु हुआ। इस विरोध प्रदर्शन में प्रभारी राजीव शुक्ला के साथ प्रदेशाध्यक्ष कुलदीप राठौर, विपक्ष के नेता मुकेश अग्निहोत्री सहित प्रदेश के सभी नेताओं ने शिरकत की। प्रभारी के समक्ष अपना शक्ति प्रदर्शन करने में कोई नेता पीछे नहीं रहे। कार्यक्रम में शामिल होने आए नेता आश्रय शर्मा, कौल सिंह ठाकुर, सुखविंदर सिंह सुक्ख अपने सैकड़ों समर्थकों के साथ आए। नेताओं के समर्थक अपने नेताओं के नाम से नारे लगाकर प्रभारी को अपनी जमीनी ताकत का अहसास कराना चाह रहे थे। लेकिन नेताओं के इस शक्ति प्रदर्शन से सभा स्थल पर नेताओं के समर्थकों के बीच उथल पुथल मच गई। जिससे प्रभारी ने अनुशासन हीनता मानते हुए चेतावनी दे डाली कि इस तरह नेताओं के नाम के नारों से नंबर बढ़ने नहीं हैं बल्कि नंबर कम होने हैं। इस तरह जहां कांग्रेसी नेता अपनी ताकत दिखा रहे थे वहीं प्रभारी ने मंच से मुकेश अग्निहोत्री की सरकार को घेरने की ताकत की प्रशंसा कर सबको हैरान कर दिया। सभी में बिना किसी शक्ति प्रदर्शन किए मुकेश अग्निहोत्री की ताकत का अहसास सभी नेताओं को हो गया। जिससे मुकेश के लिए प्रभारी राजीव शुक्ला के द्वारा दिया गया यह संदेश काफी है।