धर्मशाला नगर निगम को फतह करने सियासी मैदान में उतरे राकेश पठानिया

105

शिमला. वन एवं खेल मंत्री राकेश पठानिया धर्मशाला नगर निगम को फतह करने के लिए सियासी मैदान में उतर पड़े हैं। चुनावी रणनीति बनाने में माहिर राकेश पठानिया धर्मशाला नगर निगम के सभी वार्डों का दौरा कर रहे हैं। सरकार ने नगर निगम के चुनाव पार्टी सिम्बल पर कराने का निर्णय लिया है। जिसके चलते पठानिया जनता के बीच जाकर सरकार की उपलब्धियों को तो गिना ही रहे हैं, साथ ही निगम चुनाव में टिकट के दाबेदारों के जनाधार की टोह भी ले रहे हैं। जिससे वह जिताऊ नेता को ही पार्टी का उम्मीदवार बना सकें। वन मंत्री पठानिया स्थानीय विधायक विशाल नेहरिया के साथ प्रचार में जुट गए हैं और पार्टी के टिकट के दाबेदारों के बारे में भी मंथन कर रहे हैं। पठानिया का कहना है कि नगर निगम के सभी वार्डों से कई नेता टिकट की दाबेदारी कर रहे हैं लेकिन स्थानीय विधायक और पार्टी के सीनियर नेताओं के साथ मंथन के बाद ही टिकट पर फैसला होगा। पठानिया ने दाबा किया कि जनता के बीच बहुत उत्साह है जिससे तय है कि अब नगर निगम धर्मशाला में भाजपा का ही मेयर बनेगा।
कांगड़ा जिले के तेजतर्रार व युवा राजपूत नेता के रुप में स्थापित हो चुके राकेश पठानिया को पार्टी में पंचायती राज चुनाव में कांगड़ा व चंबा जिले की कमान सौंपी थी। पठानिया ने दोनों जिलों में दिन रात मेहनत की और कांगड़ा और चंबा जिला परिषद में भाजपा का कब्जा हुआ। इसके साथ ही दोनों जिले की नगर परिषद, नगर पंचायत और पंचायतों में भी भाजपा समर्थित प्रत्याशी जीते। कांगड़ा चंबा जिले में मिली भाजपा की भारी जीत से पठानिया का दबदबा भी साबित हुआ। जिसके चलते अब पार्टी ने पठानिया को धर्मशाला नगर निगम चुनाव में भाजपा की विजय पताका लहराने की जिम्मेदारी सौंप दी है। जिसके चलते ही पठानिया धर्मशाला की जनता के बीच पहुंच गए हैं।