राकेश पठानिया ने संभाला कांगड़ा-चंबा में पंचायत चुनाव जीताने के लिए मोर्चा, गांव-गांव में भाजपा का परचम लहराने का संकल्प

191

शिमला. प्रदेश में पंचायत चुनावों को आगाज हो गया है, जिसके तहत ग्राम पंचायत से लेकर पंचायत समिति और जिला परिषद के चुनावों होना है। भाजपा हाईकमान पंचायत चुनावों को पूरी तरह गंभीरता से ले रहा है, जिसकी मॉनीटिरिंग भी हाईकमान से हो रही है। कांगड़ा संसदीय क्षेत्र में कांगड़ा और चंबा जिले में पंचायती राज चुनावों का प्रभारी वन मंत्री राकेश पठानिया को बनाया गया है। जिसके चलते वन मंत्री राकेश पठानिया में कांगड़ा संसदीय क्षेत्र में गांव-गांव तक भाजपा का परचम लहराने के लिए मोर्चा संभाल लिया है। जिसके तहत पठानिया पहले चरण में पंचायत के प्रधान पद से लेकर जिला पंचायत के सदस्यों के लिए प्रत्याशियों का चयन करने में जुट गए है। जिला परिषद के उम्मीदवारों के लिए स्थानीय विधायकों, पूर्व विधायकों और मंडल अध्यक्षों से मंत्रणा शुरु किया है। सभी की सहमति के बाद ही प्रत्याशियों की घोषणा की जाएगी। पठानिया ने अपने विधानसभा क्षेत्र नूरपुर के अंतर्गत आने वाले जिला परिषद वार्डों से कुछ प्रत्याशियों की घोषणा कर दी है। कांगड़ा चंबा जिले की 20 विधानसभा क्षत्रों के नेताओं से जिला परिषद उम्मीदवारों के लिए मंथन जारी है। कांगड़ा जिले में सबसे अधिक जिला परिषद के 54 वार्ड हैं तो चंबा जिले में 18 वार्ड हैं। दोनों जिलों की जिला परिषद में बहुमत हासिल करने के लिए पठानिया चुनावी मैदान में दम खम के साथ उतर पड़े हैं।
सरकार में मंत्री बनने के बाद पठानिया ने कांगड़ा संसदीय क्षेत्र का नेता बनने की मुहिम छेड़ दी है। जिससे अब पंचायती राज चुनाव के लिए संसदीय क्षेत्र का प्रभारी बनना पठानिया के लिए बेहतर मौका है। जिससे अब पठानिया कांगड़ा चंबा संसदीय क्षेत्र के गांव-गांव तक भाजपा का परचम लहराने के लिए जुट गए हैं। गत सात दिनों से लगातार संसदीय क्षेत्र में कार्य करने के बाद शिमला में कैबिनेट मीटिंग में भाग लेने पहुंचे पठानिया ने कहा कि पंचायत चुनाव में भाजपा प्रत्याशियों की जीत तय है। पार्टी के सभी नेता एकजुटता के साथ केंद्र व राज्य सरकार की उपलब्धियों को जनता के बीच ले जाएंगे और गांव-गांव तक विकास की गंगा बहाने के लिए भाजपा को जिताने का कार्य करेंगे। पठानिया ने कहा कि क्षेत्र के लोगों ने भाजपा के प्रति भारी उत्साह है। शीघ्र ही कांगड़ा – चंबा के सभी नेताओं के साथ मंथन कर प्रत्याशियों की घोषणा की जाएगी। इसके बाद जनता के बीच प्रचार किया जाएगा। पठानिया ने दाबा किया कि दोनों जिलों की जिला परिषद पर भाजपा की जीत सुनिश्चित है और अध्यक्ष पद पर भाजपा प्रत्याशी ही विराजमान होगा। इसके साथ ही पंचायत समितियों, नगर निकायों और पंचायतों में भी भाजपा समर्थित प्रत्याशियों की जीत सुनिश्चित करने के लिए प्रचार अभियान तेजी से चलाया जाएगा।