विधानसभा में हंगामा : उपाध्यक्ष ने सीएलपी लीडर सहित कांग्रेसी विधायकों को मारे धक्के, घेरी गवर्नर की गाड़ी, मुख्यमंत्री सहित मंत्री भी पहुंचे

205

शिमला. विधानसभा में बजट सत्र के पहले दिन विधानसभा में भारी हंगामा हुआ। कांग्रेस के विधायक विपक्ष के नेता मुकेश अग्निहोत्री के नेतृत्व में बहुत गुस्से में थे। कांग्रेस विधायकों ने राज्यपाल के अभिभाषण को झूठ का पुलिंदा बताते हुए कहा कि उन्हें पूरा भाषण ही नहीं पढ़ा और चंद मिनटों में खत्म करके चले गए। इसके बाद कांग्रेस विधायकों ने राज्यापाल की गाड़ी को घेर लिया। जिस पर विवाद हो गया। कांग्रेस के सभी विधायक गर्वनर की गाड़ी के सामने खड़े हो गए। कांग्रेस के विधाकयों को हटाने के लिए मार्शल बुलाने के लिए कहा गया लेकिन मार्शल की भूमिका में विधानसभा के उपाध्यक्ष हंसराज नजर आए जो अचानक आकर कांग्रेस विधायकों को धक्का देकर हटाने लगे। हंसराज ने विपक्ष के नेता मुकेश अग्निहोत्री को धक्का मारा और विधायक हर्षवर्धन और रायजादा को धक्का देकर किनारे किया। इस मौके पर मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर के साथ मंत्री गोविंद ठाकुर और महेंद्र सिंह ठाकुर भी मौके पर पहुंच गए थे लेकिन विवाद बढ़ गया। इस बीच मार्शल आकर गर्वनर की गाड़ी के लिए जगह खाली करवाए और गवर्नर की गाड़ी निकल गई। इस बाद कांग्रेस विधायकों ने सरकार पर गुंडागर्दी का आरोप लगाया। इसके बाद मुकेश अग्निहोत्री ने कहा कि बजट सत्र में गवर्नर का भाषण पूरी तरह झूठ का पुलिंदा है जिसे गवर्नर ने भी नहीं पढ़ा। हम तो गवर्नर से ही पूरा भाषण पढ़ने की मांग कर रहे हैं लेकिन वह बात ही नहीं सुन रहे हैं। इसके बाद कांग्रेसी विधायकों ने महंगाई के मुद्दे को लेकर सरकार को घेरा और नारेबाजी की।
मुकेश अग्निहोत्री ने बजट भाषण को कचरा करार देते हुए कहा कि यह पहली बार हुआ कि गवर्नर ही भाषण को बिना पढ़े भाग गए। राज्यपाल में पढ़ने की हिम्मत ही नहीं हुई और वह चंद मिनटों में ही बिना पढ़े चल गए। अग्निहोत्री ने कहा कि मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर बताएं कि क्यों नहीं पढ़ा गया विधानसभा में यह भाषण। मुकेश अग्निहोत्री ने कहा कि हमने मांग की कि बजट भाषण को पढ़ा जाए।
मुकेश अग्निहोत्री ने कहा कि जिन विधायकों और पुलिस वालों ने कांग्रेस विधायकों के साथ मिस हैंडलिंग की है, उनके खिलाफ कार्रवाई की जाए। पार्टी की महिला विधायक के साथ भी कांग्रेस के मंत्रियों ने धक्का मुक्की की है, सभी के खिलाफ कार्रवाई होनी चाहिए।
इस तरह विधानसभा के बजट सत्र के पहले दिन ही अप्रत्याशित हंगामा हो गया। जिससे अब तय है कि सत्ता पक्ष और विपक्ष के बीच तनातनी बनी रहेगी। मुकेश अग्निहोत्री ने विपक्ष की रणनीति के बारे में कहा कि विधायक दल की बैठक में रणनीति बनाई जाएगी।