गजब सियासत : अब भाजपा ही करने लगी अपने विधायक रमेश ध्वाला की खिलाफत का प्रचार, तेज भड़केगी ध्वाला की ज्वाला

372

शिमला. जिस ज्वाला को मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ठाकुर शांत करने का प्रयास कर रहे हैं, उसी ज्वाला को भाजपा के द्वारा प्रचारित किया जा रहा है। भाजपा के संगठन मंत्री पवन राणा और ज्वालामुखी क्षेत्र के विधायक रमेश ध्वाला के बीच सब कुछ ठीक नहीं है। भाजपा के दोनों नेताओं के बीच छिड़ी सियासी जंग की ज्वाला मीडिया के सामने आ चुकी है। अब तक भाजपा और सरकार दोनों नेताओं के बीच की ज्वाला को शांत करने के प्रयास करते रहे और बैठकों के माध्यम से शांत करते रहे। लेकिन अब भाजपा का प्रचार विभाग ही ज्वालामुखी के विधायक रमेश ध्वाला के खिलाफ उठने वाली आवाज को प्रचारित कर रहा है। भाजपा के प्रचार विभाग के द्वारा ध्वाला के खिलाफ उठने वाले आवाज को सोशल मीडिया के माध्यम से प्रचारित कर रहा है। भाजपा में यह कैसी सियासत हो रही है, यह बहुत ही आश्चर्य वाली है। भाजपा के सोशल मीडिया एकाउंट से गत दिवस ज्वालामुखी क्षेत्र के एक गांव की महिला के द्वारा ध्वाला के खिलाप बोली गई बातों को लेकर एक वीडियो वायरल हुआ, जिसे भी भाजपा के सोशल मीडिया एकाउंट में प्रेषित किया गया। अब हाल ही में ज्वालामुखी क्षेत्र में ही ध्वाला के खिलाफ सड़क और पुल को लेकर गांव वालों ने विरोध किया। इसमें लोग सीधे तौर पर पवन राणा का गुणगान कर रहे हैं और विधायक ध्वाला का विरोध कह रहे हैं। जयराम आपसे विरोध नहीं , ध्वाला तेरी खैर नहीं, हेडिंग के साथ चल रहे एक वीडियो को भाजपा के मीडिया सदस्य के द्वारा प्रेषित किया गया। इसे देखकर आश्चर्य ही हो रहा है कि आखिर भाजपा में परदे के पीछे क्या सियासत चल रही है कि भाजपा के ही नेता अपने विधायक रमेश ध्वाला की खिलाफत को प्रचारित कर रही है। संगठन मंत्री पवन राणा और विधायक रमेश ध्वाला के बीच जंग खुलकर शुरु हो गई है। यह लड़ाई ज्वालामुखी की जमीन पर खुलकर सामने आ रही है। पंचायतों के लोग पवन राणा का गुणगान कर रमेश ध्वाला का विरोध कर रहे हैं। यह सब किसके इशारे पर हो रहा है, यह बताने की जरुरत नहीं है। लेकिन यह तय है कि भाजपा में परदे के पीछे जो सियासत चल रही है वह भाजपा के लिए बेहतर संकेत नहीं है। अब यह तय है कि ज्वालामुखी की ज्वाला फिर भाजपा के लिए कोई बड़ा संकट खड़ा कर सकती है।