प्रशासनिक फेरबदल : मिशन 2022 की कामयाबी के लिए तैनात किए कामयाब अफसर

141

शिमला. भाजपा सरकार और संगठन मिशन 2022 को कामयाब बनाने के लिए जुट गए हैं। इसी के चलते मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने बड़ा प्रशासनिक फेरबदल किया है। मुख्यमंत्री ने काम करने बाले अफसरों को प्रमुख पदों पर तैनात किया है, जिससे वह नया सोचकर विकास के नए आयाम स्थापित करें और चले रहे विकास कार्यों को समय पर पूरा कराने में कामयाब हों। इस फेरबदल में डायरेक्ट आईएएस बने अफसरों को अधिक तरजीह दी गई हैं। अधिकांश जिलों में डीसी के कमान इन्ही युवा अफसरों को सौंपी गई है, जिससे वह नई सोच और जोश के साथ विकास कार्यों को अंजाम देंगे। आगामी विधानसभा चुनाव को करीब डेढ़ वर्ष बचे हैं, जिसके चलते ही सरकार ने 8 जिलों के डीसी को भी बदल दिया है। जिससे लगता है कि अब यही अधिकारी 2022 तक अपने पदों पर बनें रहेंगे। जिलों में विकास कार्यों में तेजी आने से ही सरकार की छवि में निखार आएगा और सरकार का विकास का दाबा जनता के सामने खरा उतरेगा।
मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने प्रशासनिक फेरबदल करते हुए दो अधिकारियों को विशेष जिम्मेदारी सौंपी हैं। जिसमें आईएएस अमित कश्यप को पर्यटन विभाग का जिम्मा दिया है तो कांगड़ा के डीसी रहे राकेश प्रजापति को उद्योग विभाग का डायरेक्टर लगाया है। उद्योग और पर्यटन के क्षेत्र में मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर सरकार बनने के समय से ही विकास के नए आयाम स्थापित करना चाहते हैं। औद्योगिक विकास के लिए इनवेस्टर मीट का आयोजन भी किया गया था तो पर्यटन विकास के लिए नई पॉलिसी ही तैयार की गई थी। इनवेस्टर मीट के दौरान पर्यटन क्षेत्र में ही करोड़ों के निवेश के एमओयू साइन हुए थे। अमित कश्यप और राकेश प्रजापति दोनों ही अधिकारी अपने काम के दम पर ही जनता के बीच लोकप्रियता हासिल करने में कामयाब रहे हैं और सरकार के पसंदीदा भी बने रहे। कोरोना काल में शिमला के डीसी रहे अमित कश्यप में अपने प्रशासनिक क्षमता का परिचय देते हुए बेहतर प्रबंध किए थे तो प्रजापति ने कांगड़ा जिले में कमान संभाली थी। जिससे हिमाचल प्रदेश में कोरोना नियंत्रित रहा।
शिमला में अपने काम के दम पर नाम कमाने वाले निपुन जिंदल को प्रदेश के सबसे बड़े जिले कांगड़ा की कमान सौंपी गई है तो आबिद हुसैन को किन्नौर का डीसी लगाया गया है। दोनों ही अधिकारी ने शिमला में रहते हुए अलग-अलग विभागों में बेहतर काम किया है। पर्यटन विभाग के डायरेक्टर रहे युनुस खान को भी आबकारी विभाग का कमिश्नर बनाया गया। इसके साथ ही शिमला नगर निगम में कमिश्नर के तौर पर कार्य कर चुके पंकज राज को भी अपने काम के कारण ही बिलासपुर का डीसी लगाया गया। युवा आईएएस आशुतोष गर्ग को कुल्लू के डीसी की कमान सौंपी गई है तो मुख्यमंत्री के गृह जिले मंडी में डीसी की कमान अरिंदम चौधरी के हाथों में आ गई है। सोलन डीसी के पद पर कृतिका कुलिहारी की तैनाती की गई है। जिससे साफ है कि मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने सीधे आईएएस बने युवा अधिकारियों पर बहुत भरोसा किया है। इन सबके अलावा भी कई अधिकारियों को नई जिम्मेदारी सौंपी गई है। इस फेरबदल के बाद उम्मीद है कि राजधानी शिमला से लेकर प्रदेश के हर जिले में नई सोच और जोश के साथ विकास कार्यों में तेजी आएगी। उम्मीद भी यही है कि मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने जिसे सोच के साथ प्रदेश में भारी प्रशासनिक फेरबदल किया है, उसे कामयाब करने में सभी अधिकारी भी कामयाब हों।