मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर अपनी नाकामियों को ढीकरा अफसरों पर फोड़ रहे, अब बोरिया विस्तार समेटे जयराम : मुकेश अग्निहोत्री

213

शिमला. सरकार के तीन साल पूरे होने पर जश्न मना रहे मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर पर विपक्ष के नेता मुकेश अग्निहोत्री ने बड़ा हमला बोला है। मुकेश अग्निहोत्री ने कहा कि मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर अपनी नाकामियों का ढीकरा अब अफसरों के सिर फोड़ रहैं हैं। तीन साल के कार्यों की समीक्षा में जब पर्यटन के हर प्रोजेक्ट की नाकामी सरकार के सामने आई तो मुख्यमंत्री अब अफसरों को धमका रहे हैं। सरकार के तीन साल का नाकामी के लिए अफसरों को दोषी ठहराना ठीक नहीं जबकि यह सरकार ही नाकामियों भरी सरकार है। मुख्यमंत्री अपनी नाकामी को जनता के सामने स्वीकारें और अब सरकार का बोरिया विस्तार समेटने के लिए तैयार रहें। जयराम ठाकुर मुख्यमंत्री के रुप में पूरी तरह नाकाम रहे हैं और उनके मंत्री भी नाकाम रहे हैं। जिससे अब तीन साल बाद जब सरकार की नाकामी जनता के सामने आ रही है तो जयराम ठाकुर बौखला गए हैं और अफसरों पर सख्त कार्रवाई करने की धमकी दे रहे हैं।
मुकेश अग्निहोत्री ने कहा कि सरकार के तीन साल में एक भी ऐसा काम नहीं किया जो प्रदेश की जमीन पर जनता को दिखाई दे रही हो। सरकार के नाकामी तीन सालों में पूरी तरह जनता को दिखाई दी है। जिससे अब जयराम ठाकुर को विकास की बात करने की बजाय सरकार का बोरिया बिस्तर समेटने की तैयारी करनी चाहिए। कोरोना संकट काल में सरकार के कुप्रबंधन के कारण शुरु से ही जनता को परेशानी का सामना करना पड़ा है। हजारों लोगों की मौत हो चुकी है और 50 हजार के ज्यादा लोग संक्रमित हुए हैं लेकिन सरकार उनका इलाज करने में फेल रही है। जो लोग कोविड सेंटर में भर्ती हुए हैं उन लोगों ने वहां की बदहाली सुनाई है। सरकार के मंत्री भी कोविड सेंटर में जाकर परेशान हुए और जनता के सामने बताया कि वहां बहुत दुर्दशा है। इसके बाद भी सरकार सुशासन की बात कर रही है। मुकेश अग्निहोत्री ने कहा कि मुख्यमंत्री को प्रदेश की कोरोना संकट से निबटने में फेल होने के कारण प्रदेश की जनता से माफी मांगनी चाहिए कि सरकार उन्हें बेहतर इलाज देने में नाकाम रही है। अग्निहोत्री ने कहा कि सरकार तीन साल में पूरी तरह नाकाम रही है।